DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अलकतरा घोटाला: सीबीआई को भरोसा, जल्द पूरी होगी जांच

अलकतरा घोटाले (बिटुमीन स्कैम) में सीबीआई को अभी 11 मामले में अदालत में चाजर्शीट दायर करनी है। इसके लिए अनुसंधान का काम चल रहा है। सीबीआई को भरोसा है कि जल्द सभी मामलों में अनुसंधान पूरी करके न्यायालय में आरोप पत्र दायर कर दिया जायेगा।

सीबीआई ने अलकतरा घोटाले में कुल 22 प्राथमिकियां दर्ज की है। सूत्रों के अनुसार सीबीआई को इस मामले में कई तथ्य हाथ लग चुके हैं, जिससे यह बात सामने आयी है कि अलकतरा घोटाले के तार कई राजनीतिज्ञों से भी जुड़े हुए हैं। गढ़वा के विधायक सत्येंद्र नाथ तिवारी के खिलाफ तो सीबीआई न्यायालय में चाजर्शीट दायर कर ही चुका है।

कुछ अन्य राजनीतिज्ञों के भी इस मामले में लपेटे में आने की संभावना है। दरअसल कई राजनीतिज्ञों ने सड़क तथा भवन निर्माण से जुड़ी कंपनियां खोल रखी हैं। अपने प्रभाव का इस्तेमाल करके सड़क निर्माण का ठेका भी अपनी कंपनी को दिलाया। साथ ही घटिया गुणवत्ता की सड़क बनाकर इंजीनियरों तथा ठेकेदारों के साथ सरकारी पैसों का गबन किया।

अभी सीबीआई राजनीतिज्ञों के नामों का खुलासा नहीं करना चाहती है, क्योंकि पर्याप्त सबूतों के हाथ में आने के बाद ही ऐसे लोगों के खिलाफ कोर्ट में चाजर्शीट दायर की जायेगी। सीबीआई ने अभी तक 11 मामलों में 27 सरकारी सेवकों तथा 16 निजी लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। अभी तक कुल 33 सरकारी सेवकों के खिलाफ सरकार से अभियोजन की स्वीकृति मांगी गयी है।

जैसे-जैसे सरकार की ओर से अभियोजन की स्वीकृति मिलती जा रही है, वैसे-वैसे सीबीआई अनुसंधान पूरा कर कोर्ट में मामले को लेकर चाजर्शीट दायर कर रही है। वैसे सूत्रों का कहना है कि पूरी जांच में सीबीआई को और तीन माह लगेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अलकतरा घोटाला: सीबीआई को भरोसा, जल्द पूरी होगी जांच