DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब विधायक जी को मिलेगा चापाकल

इस साल विधायकों की अनुशंसा से प्रति पंचायत पांच चापाकल लगाये जाएंगे। इस योजना के तहत करीब 22 हजार चापाकल गाड़े जाएंगे। देर ही सही इसकी प्रक्रिया शुरू हो गई है। विधायकों की अनुशंसा के बाद जिला जल एवं स्वच्छता मिशन की बैठक में प्रस्ताव पर स्वीकृति दी जाएगी। मिशन के अध्यक्ष डीसी होते हैं।

चापाकल के लिए एक-दो दिन में टेंडर निकलना शुरू हो जाएगा। चाईबासा, गुमला, पलामू अंचल ने निविदा  प्रकाशन के लिए पीआरडी को भेज भी दिया है। हालांकि इस काम के लिए अभी सरकार के हाथ में पैसे नहीं है। फंड केंद्र से मिलना है। वैसे सरकार ने केंद्र से सहमति प्राप्त कर ली है। राज्य मुख्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक केंद्र से फंड मिलने के बाद ही वर्क अवार्ड होगा। तब तक टेंडर की प्रक्रिया पूरी होगी।

बताते चलें कि माननीयों की अनुशंसा पर चापाकल नहीं दिये जाने से जनता और जनप्रतिनिधि दोनों परेशान हैं। सुखाड़ के मद्देनजर, विधायक सरकार के इस रवैये पर सवाल भी खड़े करते रहे हैं। विधानसभा के बजट सत्र में यह मामला जोर से उछला था। पिछले साल विधायकों की अनुशंसा से चापाकल नहीं लगाये गए थे। हल्ला के बाद सरकार ने विधायकों की अनुशंसा से प्रति पंचायत 10 चापाकल लगाने का फैसला लिया है।

सरकार ने 600 करोड़ की योजना की स्वीकृति दी है। यह काम तीन साल में पूरा होगा। बताते चलें कि अभी प्रति पंचायत दो उच्च प्रवाही नलकूप लगाने का काम चल रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब विधायक जी को मिलेगा चापाकल