DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुंबई ने तोड़ा दिल्ली का दिल

मुंबई ने तोड़ा दिल्ली का दिल

अंबाती रायुडू और रोहित शर्मा की संकल्पपूर्ण पारियों के बाद गेंदबाजों के दमदार प्रदर्शन की बदौलत मुंबई इंडियन्स ने आईपीएल में शनिवार को यहां दिल्ली डेयरडेविल्स को 32 रन से हरा दिया।

लगातार तीसरी जीत के साथ मुंबई का प्ले आफ के लिए क्वालीफाई करना लगभग तय हो गया है जबकि दिल्ली की टीम खिताब की दौड़ से लगभग बाहर हो गई है। मुंबई 10 मैचों में आठ जीत से 16 अंक जुटाकर शीर्ष पर बरकरार है जबकि दिल्ली की 11 मैचों में यह सातवीं हार है। टीम आठ अंक के साथ अंक तालिका में सातवें स्थान पर है।

रायुडू ने 39 गेंद की अपनी पारी में सात चौकों और दो छक्कों की मदद से 59 रन बनाए। उन्होंने रोहित शर्मा (32 गेंद में 49 रन, दो चौके और तीन छक्के) के साथ तीसरे विकेट के लिए 87 रन की साझेदारी भी की जिसकी मदद से मुंबई ने चार विकेट पर 178 रन का मजबूत स्कोर खड़ा किया। मुंबई की ओर से एडन ब्लिजार्ड ने भी 37 रन की ताबड़तोड़ पारी खेली।

इसके जवाब में दिल्ली की टीम जेम्स होप्स (44 गेंद में 55 रन, 10 चौके) की उम्दा पारी के बावजूद 19.5 ओवर में 146 रन पर सिमट गई। होप्स ने वेणुगोवाल राव (37) के साथ पांचवें विकेट के लिए 87 की साझेदारी भी की।

दो चेतावनी के बाद गेंदबाजी से हटाए गए मुंबई की ओर से लसिथ मलिंगा ने 3.2 ओवर में 18 रन देकर दो विकेट चटकाए। हरभजन सिंह, कीरोन पोलार्ड और मुनाफ पटेल ने भी उनका अच्छा साथ निभाते हुए दो-दो विकेट हासिल किए।

दिल्ली की शुरूआत काफी खराब रही और उसने सात रन के स्कोर तक ही डेविड वार्नर (01), कोलिन इनग्राम (01), कप्तान वीरेंद्र सहवाग (02) और नमन ओझा (01) के विकेट गंवा दिए। हरभजन ने पारी के पहले ओवर में ही वार्नर को पगबाधा आउट किया जबकि मलिंगा ने अपनी पहली ही गेंद पर इनग्राम के विकेट बिखेर दिए।

तेंदुलकर ने तीसरे ओवर में जब गेंद मुनाफ को थमाई तो उन्होंने पिछले मैच में शतक जड़ने वाले सहवाग और ओझा को पवेलियन भेजकर दिल्ली की बल्लेबाजी की रीढ़ ही तोड़ दी। मुनाफ की पहली ही गेंद को पुल करने की कोशिश में सहवाग हवा में लहरा गए और रोहित ने आसान कैच लपका। ओझा आफ साइड से बाहर जाती गेंद से छेड़छाड़ की कोशिश में विकेटकीपर रायुडू को कैच दे बैठे।

होप्स और वेणुगोपाल ने 87 रन जोड़कर विकेटों के पतक्षड़ पर विराम लगाया। लेकिन इस साझेदारी की शुरूआत में मुंबई के गेंदबाज हावी रहे और पावरप्ले के छह ओवर में केवल 23 रन बने।

होप्स ने धीरे-धीरे हाथ खोलने शुरू किए और धवल कुलकर्णी पर लगातार दो चौके जड़ने के बाद मुनाफ पर भी दो चौके मारे। वह हालांकि भाग्यशाली रहे जब 23 रन के निजी स्कोर पर मलिंगा की गेंद पर मुनाफ ने उनका कैच छोड़ दिया।

वेणुगोपाल ने भी एंड्रयू साइमंडस की लगातार गेंदों पर चौका और छक्का जड़ा। कुलकर्णी ने वेणुगोपाल को बोल्ड करके इस साझेदारी को तोड़ा। उन्होंने 27 गेंद की अपनी पारी में चार चौके और एक छक्का मारा। इरफान पठान (23) ने मुनाफ की गेंद पर एक रन के साथ 15.1 ओवर में टीम का स्कोर 100 रन तक पहुंचाने के बाद उन पर लगातार दो चौके भी मारे। होप्स ने इस बीच हरभजन की गेंद पर एक रन के साथ 41 गेंद में अपना अर्धशतक पूरा किया।

दिल्ली की टीम को जीत के लिए अंतिम चार ओवर में 65 रन की दरकार थी जो लक्ष्य उसके लिए काफी अधिक साबित हुआ। पठान ने हरभजन की लगातार गेंदों को चार रन के लिए भेजा लेकिन होप्स इसी ओवर में अपने साथी बल्लेबाज के साथ गलतफहमी का शिकार होकर रन आउट हो गए और दिल्ली की रही सही उम्मीद भी टूट गई।

इससे पहले, अंबाती रायुडू के संकल्पपूर्ण अर्धशतक और रोहित शर्मा की तूफानी पारी की मदद से मुंबई इंडियन्स ने इंडियन प्रीमियर लीग मैच में शनिवार को दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ चार विकेट पर 178 रन का मजबूत स्कोर खड़ा किया।

रायुडू ने हिट विकेट आउट होने से पहले 39 गेंद की अपनी पारी में सात चौकों और दो छक्कों की मदद से 59 रन बनाए। उन्होंने रोहित शर्मा (32 गेंद में 49 रन, दो चौके और तीन छक्के) के साथ तीसरे विकेट के लिए सिर्फ 9.2 ओवर में 87 रन की साझेदारी भी की। मुंबई की ओर से एडन ब्लिजार्ड ने भी 37 रन की ताबड़तोड़ पारी खेली।

दिल्ली की ओर से इरफान पठान ने किफायती गेंदबाजी करते हुए अपने कोटे के चार ओवरों में 23 रन देकर एक विकेट चटकाया। टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरे मुंबई इंडियन्स को ब्लिजार्ड और सचिन तेंदुलकर (14) की सलामी जोड़ी ने सिर्फ 5.2 ओवर में 50 रन जोड़कर तूफानी शुरुआत दिलाई लेकिन ये दोनों लगातार ओवरों में पवेलियन लौट गए।

ब्लिजार्ड ने शुरू से ही मोर्ने मोर्कल को निशाने पर रखा। दक्षिण अफ्रीका के इस तेज गेंदबाज के पहले ओवर में दो चौकों से शुरुआत करने के बाद ब्लिजार्ड ने उनके अगले ओवर में पांच बार गेंद को सीमा रेखा के दर्शन कराए। तेंदुलकर ने पठान पर दो चौके लगाए। बाएं हाथ के इस तेज गेंदबाज ने हालांकि पांचवें ओवर में नीची रहती गेंद पर मुंबई इंडियन्स के कप्तान के विकेट बिखेरकर बदला चुकता कर लिया। यह पारी का एकमात्र मेडन ओवर भी रहा।

सहवाग ने अगले ओवर में गेंद बाएं हाथ के स्पिनर शाहबाज नदीम को थमाई जिन्होंने अंतिम गेंद पर ब्लिजार्ड को मिड विकेट पर कप्तान के हाथों कैच कराकर टीम को दूसरी सफलता दिलाई। ब्लिजार्ड ने 23 गेंद की अपनी पारी में आठ चौके लगाए। अंबाती रायुडू और रोहित शर्मा ने इसके बाद पारी को संवारा। रोहित ने धीमी शुरुआत की लेकिन रायुडू ने कुछ आकर्षक शाट खेले।

रायुडू ने अजित अगरकर की गेंद को डीप स्क्वायर लेग बाउंड्री के ऊपर से छह रन के लिए भेजा जबकि रोहित ने अगले ओवर में मोर्कल पर सीधा छक्का जड़कर 12.3 ओवर में टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया।

रोहित ने इसके बाद आक्रामक रुख अपनाते हुए 15वें ओवर में होप्स पर दो छक्के जड़े। वह अगले ओवर में भाग्यशाली रहे जब पठान की गेंद पर डेविड वार्नर ने बाउंड्री पर उनका आसान कैच छोड़ दिया और गेंद चार रन के लिए चली गई। वह हालांकि इस जीवनदान का फायदा नहीं उठा पाए और अगले ओवर में मोर्कल की गेंद पर वेणुगोपाल राव को कैच देकर पवेलियन लौटे।

रायुडू ने नदीम की लगातार गेंदों पर छक्के और चौके के साथ सिर्फ 35 गेंद में आईपीएल का अपना छठा अर्धशतक पूरा किया। वह हालांकि अगले ओवर में होप्स की गेंद पर लगातार दो चौके जड़ने के बाद पीछे हटकर खेलने की कोशिश में हिट विकेट होकर पवेलियन लौटे। मुंबई के बल्लेबाजों ने अंतिम छह ओवर में 67 रन जोड़े।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुंबई ने तोड़ा दिल्ली का दिल