DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोलकाता ने थामा चेन्नई का विजय रथ

कोलकाता ने थामा चेन्नई का विजय रथ

कोलकाता नाइटराइडर्स ने बारिश से प्रभावित आईपीएल मैच में शनिवार को पिछले चैंपियन चेन्नई सुपरकिंग्स को डकवर्थ लुईस पद्वति से दस रन से हराया। चेन्नई की यह लगातार चार जीत के बाद पहली हार है जबकि केकेआर ने पिछले मैच में हार से उबरते हुए वापसी की।

बारिश के कारण खेल एक घंटा देरी से शुरू हुआ। बाद में बारिश के कारण ही केकेआर की टीम केवल दस ओवर खेल पाई। तिस पर ईडन गार्डन्स की पिच ने भी कमाल दिखाया जिस पर गेंद नीचे रह रही थी। केकेआर ने इस पर कसी हुई गेंदबाजी करके चेन्नई को चार विकेट पर 114 रन ही बनाने दिए जो इस आईपीएल में उसका न्यूनतम स्कोर है।

फार्म में चल रहे सुब्रहमण्यम बद्रीनाथ ने चेन्नई की तरफ से सर्वाधिक 54 रन बनाये। उन्होंने 41 गेंद खेली तथा तीन चौके और दो छक्के लगाए। उनके अलावा केवल एल्बी मोर्कल (नाबाद 30) ही गेंद को सीमा रेखा के दर्शन करवा पाए। इन दोनों ने चौथे विकेट के लिए 65 रन की साझेदारी की जिससे टीम तिहाई अंक तक पहुंची।

कोलकाता के लिए लक्ष्य आसान था लेकिन जब उसने दस ओवर के बाद दो विकेट पर 61 रन बनाए थे तभी झमाझम बारिश आ गई। इसके बाद खेल नहीं हो पाया। केकेआर को जीत के लिए 60 गेंद पर 54 रन चाहिए थे लेकिन डकवर्थ लुईस पद्वति से वह जीत के लिए तब तक पर्याप्त रन बना चुका था। यह नाइटराइडर्स की 11वें मैच में सातवीं जीत है जिसके उसके 14 अंक हो गए हैं। दूसरी तरफ, चेन्नई को दसवें मैच में चौथी हार मिली लेकिन वह अब भी 12 अंक लेकर तीसरे स्थान पर बरकरार है।

चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला कारगर नहीं रहा। पहले ब्रेट ली की अगुवाई में केकेआर के गेंदबाजों ने कसी हुई गेंदबाजी की जबकि बाद में डकवर्थ लुईस भी सुपरकिंग्स के खिलाफ ही गया। धोनी ने स्वयं स्वीकार किया कि यदि बारिश की भविष्यवाणी रहती तो वह पहले क्षेत्ररक्षण करते।

केकेआर की इस जीत का श्रेय ईडन गार्डन्स की धीमी पिच और गेंदबाजों को दिया जा सकता है। ली ने कोच्चि टस्कर्स केरल के खिलाफ पिछले मैच में आखिरी ओवर में 22 रन लुटाए थे जो आखिर में निर्णायक साबित हुए लेकिन आज उन्होंने चार ओवर में केवल आठ रन दिए। बाएं हाथ के स्पिनर इकबाल अब्दुल्ला ने इतने ही ओवर में 15 रन देकर एक विकेट लिया।

चेन्नई ने जहां दसवें ओवर में गेंद सीमा रेखा तक भेजी वहीं केकेआर के इयोन मोर्गन ने चौथी गेंद पर ही पहला चौका जड़ दिया था। यह अलग बात है कि नाइटराइडर्स के लिए भी बल्लेबाजी आसान नहीं रही। मोर्गन (5) दूसरे ओवर में ही आर अश्विन की नीची रहती गेंद को कट करने के प्रयास में बोल्ड हो गए।

अश्विन ने इसके बाद कोलकाता के कप्तान गौतम गंभीर (16) को भी पवेलियन भेजा। इसमें सूरज रणदीव का योगदान अहम रहा जिन्होंने लंबी दौड़ लगाकर कैच लिया। जाक कैलिस (नाबाद 21) और मनोज तिवारी (नाबाद 15) इसके बाद जब टीम को आसानी से लक्ष्य की तरफ ले जा रहे थे तभी तेज बारिश आ गई जिसके बाद आगे का खेल संभव नहीं हो पाया।

इससे पहले केकेआर ने शुरू में बेहद कसी हुई गेंदबाजी की और पावरप्ले के छह ओवर में केवल 15 रन दिए। इस बीच चेन्नई ने मुरली विजय और सुरेश रैना के विकेट भी गंवाए जिससे टीम दबाव में आ गई।

ली ने अपने पहले तीन ओवर में मात्र पांच रन दिए जबकि उनके साथ नई गेंद संभालने वाले अब्दुल्ला ने दो ओवर में पांच रन देकर विजय का विकेट भी निकाला। खराब फार्म में चल रहे विजय ने फ्लाइट लेती गेंद पर गेंदबाज को कैच थमाया।

अब्दुल्ला की जगह पावरप्ले का अंतिम ओवर करने के लिए यूसुफ पठान आए जिन्होंने रैना (4) को मिडविकेट पर जाक कैलिस के हाथों कैच कराया। आलम यह था कि गेंद ने दसवें ओवर में तब सीमा रेखा के दर्शन किए जब बद्रीनाथ ने पठान की गेंद लांग आन पर छह रन के लिए भेजी।

पिछले तीन सत्र में चेन्नई की तरफ से खेलने वाले लक्ष्मीपति बालाजी 11वें ओवर में आक्रमण पर लगाए गए। बद्रीनाथ ने अपने इस पूर्व साथी का स्वागत चौके से किया लेकिन बालाजी ने माइकल हस्सी को आउट करके चेन्नई को तीसरा झटका दिया। हस्सी ने 26 गेंद खेलकर 15 रन बनाए।

चौदह ओवर तक केवल बद्रीनाथ ही गेंद को सीमा रेखा पार भेज पाए थे लेकिन जयदेव उनादकट के एकमात्र ओवर की पहली दो गेंद मोर्कल ने चौके में तब्दील की। बद्रीनाथ ने इसी ओवर में एक रन लेकर आईपीएल में 1000 रन पूरे किए। वह इस मुकाम पर पहुंचने वाले 19वें बल्लेबाज हैं।

रन बनाना इसके बाद भी आसान नहीं रहा लेकिन बद्रीनाथ ने फिर से बालाजी की गेंद मिडविकेट पर छह रन के लिए भेजी और फिर 19वें ओवर में आईपीएल में नौवां अर्धशतक पूरा किया। वह पारी की आखिरी गेंद पर रन आउट हुए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कोलकाता ने थामा चेन्नई का विजय रथ