DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निर्देशक बनने की तैयारी में लारा दत्ता

निर्देशक बनने की तैयारी में लारा दत्ता

इंडस्ट्री के कई लोग मान रहे थे कि शादी के बाद लारा दत्ता फिल्मों को अलविदा कह देंगी। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। पिछले सप्ताह बतौर प्रोडयूसर उनकी पहली फिल्म चलो दिल्ली रिलीज हुई। अब वह निर्देशन में हाथ आजमाने की तैयारी कर रही हैं।   

तौर प्रोडयूसर अभिनेत्री लारा दत्ता की पहली फिल्म 'चलो दिल्ली' की बॉक्स ऑफिस रिपोर्ट बहुत सुखद नहीं है। अब यह दीगर बात है कि इसके प्रमोशन में उन्होंने कोई कोर-कसर बाकी नहीं रखी थी। हालांकि उनकी इस फिल्म को फिल्म समीक्षकों से रेटिंग काफी अच्छी मिली है। रिलीज के बीच समय निकाल कर लारा बेंगलुरू में अपनी मां के हाथ के बने खाने का मजा लेने चली गईं और लगे हाथ अपनी सास यानी महेश भूपति की मां से भी मिल आईं।

लारा कहती है कि व्यस्तता के चलते जब बहुत दिनों तक मुझे अपनी मां के हाथ का बना खाना नहीं मिलता है, मैं तुरंत बेंगलुरु की फ्लाइट पकड़ लेती हूं। शादी के बाद से लारा में एक बड़ा बदलाव साफ देखने को मिल रहा है। कुछ निंदक शादी के बाद उनके फिल्म करियर की इतिश्री मान रहे थे। मगर लारा के चेहरे पर एक निश्चिंतता साफ झलक रही है। एक ताजा मुलाकात के दौरान उन्होंने माना कि फिल्म इंडस्ट्री में वह एक्टिंग के अलावा भी बहुत कुछ करना चाहती है। इसकी शुरुआत उन्होंने चलो दिल्ली से कर दी है।
 
इसके बाद भूपति के साथ उनकी फिल्म कंपनी एक साथ कई फिल्मों का निर्माण शुरु करेंगी। इस साल फरवरी में टेनिस स्टार महेश भूपति के साथ वह परिणय सूत्र में बंध गई थीं। एक सुखद आश्चर्य की तरह लारा के पास कभी फिल्मों का अभाव नहीं रहा है। अब तो वो फिल्म डायरेक्ट भी करना चाहती हैं।

शादी रुकावट नहीं बनेगी
अक्सर शादी के बाद हीरोइन से इंडस्ट्री विमुख होने लगती है। लारा इस सोच को सिरे से खारिज कर देती हैं। वह बताती हैं कि देखिए, यह तो हीरोइन की क्षमता और इच्छा शक्ति पर निर्भर करता है। आज ऐश इस बात का एक अच्छा उदाहरण बनकर सामने आई हैं। मुझे तो पूरा यकीन है कि शादी के बाद भी मैं पूरे रुतबे के साथ काम कर सकती हूं।’ इसे लेकर उनका अपना ही नजरिया है। आत्मविश्वास से भरा उनका स्वर होता है, ‘मेरी अब तक की फिल्में ही इस बात का अच्छा सबूत हैं। मैंने हमेशा हीरो के साथ जोड़ी बनाने की बजाय अच्छे रोल पर नजर रखी है। यही वजह है कि रितेश देशमुख या अक्षय कुमार की बीवी बनने में मुझे कोइ्र्र परेशानी नहीं होती। फिर इंडस्ट्री में एक्टिंग के अलावा भी बहुत कुछ किया जा सकता है।’

डायरेक्टर  बनना चाहती हैं
अपने पिछले एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था कि वह फिल्म भी डायरेक्ट करना चाहती हैं। अपने उस इरादे पर वह अब भी कायम हैं। वह बताती हैं कि मैंने दो स्क्रिप्ट तैयार कर ली हैं, जिसमें से किसी एक को मैं खुद डायरेक्ट करना चाहती हूं। अभी मैं इस बारे में कुछ बताना नहीं चाहती हूं। सुभाष घई जी ने भी मेरी स्क्रिप्ट को बहुत पसंद किया है। इसलिए चलो दिल्ली को मैंने डायरेक्ट नहीं किया। फिल्म डॉन-2 की शूटिंग के दौरान मैंने और प्रियंका ने फिल्म की यूनिट के साथ खूब मौज-मस्ती भी की।  प्रियंका बहुत अच्छी लड़की है।’ एक अभिनेत्री दूसरी की तारीफ करे, फिल्म इंडस्ट्री में ऐसा कम ही देखने को नसीब होता है। ऐसे में लारा ने जिस तरह से मुक्त कंठ से प्रियंका की तारीफ की है, जाहिर है शादी के बाद वह और ज्यादा परिपक्व हुई हैं।           

भूपति भाग्यशाली बने
केली डोरजी, डिनो मारिया अपने किसी पुरुष मित्र को उन्होंने मीडिया से छिपा कर नहीं रखा। केली डोरजी के साथ उनका रिश्ता आठ साल तक चला था, मगर शादी उन्होंने अपने एक पुराने मित्र भूपति से की। अब लारा कहती हैं कि मीडिया के सामने मैं हमेशा ही बेबाक रही हूं। मगर निजी जिंदगी की कुछ बातें ऐसी होती हैं, जिन्हें सही समय पर बताना ठीक होता है।

भूपति के साथ मेरी दोस्ती के बारे में मीडिया अच्छी तरह से वाकिफ था। लेकिन हमारे बीच तब ऐसा कुछ भी नहीं था कि उसे मैं पूरी पुख्तगी के साथ बता पाती। हां, महेश से शादी करने के निर्णय को हमने कुछ दिनों मीडिया से छिपा कर रखा था।’ क्या पिछले टूटे हुए रिश्तों से सबक लेकर उन्होंने यह निर्णय किया था?  उनका जवाब दो टूक होता है, ‘कोई भी रिश्ता मेरे लिए कभी बोझ नहीं बना। वो चाहे केली डोरजी हो या डिनो मारिया, मैंने अपने किसी भी दोस्त को मेरे बारे में कभी कुछ गलत नहीं कहा। मैंने दोस्ती भी ऐसे लोगों से की, जो तमाशा करने से बचते हैं। केली और मैं आज भी एक-दूसरे का बहुत सम्मान करते है। मेरा तो मानना है, कोई रिश्ता आप यदि संभाल नहीं पाते हैं, कोई बात नहीं। लेकिन उसे तमाशा मत बनाइए।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:निर्देशक बनने की तैयारी में लारा दत्ता