DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बनहरदी कोल ब्लॉक का आवंटन रद्द नहीं होगा: चेयरमैन

बनहरदी कोल ब्लॉक का आवंटन रद्द नहीं होने दिया जाएगा। कोल ब्लॉक से खनन का काम शुरू करने की प्रक्रिया चल रही है। यह कहना है झारखंड राज्य बिजली बोर्ड चेयरमैन शिवबसंत का। उन्होंने बताया कि कोल ब्लॉक नक्सल प्रभावित इलाकों में है। वहां कार्य करने गए कर्मियों का अपहरण कर लिया गया था। इस कारण कार्य में बाधा पहुंची है।

लेकिन काम जल्द ही फिर से शुरू किया जाएगा। उक्त कोल ब्लॉक के आधार पर कंपिटीटिव बीडिंग चल रही है। 34 कंपनियों ने इसमें हिस्सा लिया है। हालांकि प्रोजेक्ट किसे मिलेगा इस पर निर्णय नहीं हो पाया है। इस सवाल पर चेयरमैन ने कहा कि सरकार को इसपर निर्णय लेना है। जल्द ही इस पर निर्णय लिया जाएगा। लेकिन उक्त कोल ब्लॉक से एक्सप्लोरेशन का काम चल रहा है।

राज्य के मुख्य सचिव एसके चौधरी इस बाबत केंद्र को पत्र लिखकर मौजूदा स्थिति से अवगत करा रहे हैं, ताकि केंद्र को कोल ब्लॉक के मामले में वस्तुस्थिति से अवगत कराया जा सके।

पीटीपीएस के लिए मिला बनहरदी कोल ब्लॉक : चेयरमैन ने कहा कि बनहरदी कोल ब्लॉक से कोयले का इस्तेमाल नए प्लांट के लिए किया जाना है, बल्कि कार्यरत प्लांट को भी बनहरदी से ही कोयला मिलेगा। पीटीपीएस में 620 मेगावाट की क्षमता के दो पावर प्लांट लगाए जाने हैं। इस प्रोजेक्ट के लिए गत वर्ष के अक्तूबर महीने में ग्लोबल सेमिनार का आयोजन किया गया था। हालांकि टेंडर किसी को नहीं मिला है।

ट्रांसमिशन लाईन के लिए टेंडर शीघ्र : चेयरमैन शिवबसंत ने बताया कि राज्य के कुछ इलाकों में ट्रांसमिशन लाईन बिछाने के लिए शीघ्र ही टेंडर किया जाएगा। पावर ग्रिड कॉरपोरेशन को ट्रांसमिशन लाईन को काम दिए जाने पर उन्होंने कहा कि सरकार को इसपर निर्णय लेना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बनहरदी कोल ब्लॉक का आवंटन रद्द नहीं होगा: चेयरमैन