DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्यपाल के रजिस्ट्रेशन से यूआईडी कार्ड बनाने का शुभारंभ

सूबे के शहरी क्षेत्रों में शुक्रवार से यूनिक आइडेंटिफिकेशन कार्ड (यूआईडी) बनाने का शुभारंभ हुआ। पहला रजिस्ट्रेशन सुबह 11 बजे राजधानी रांची में राज्यपाल एम ओ एच फारूक का किया गया। फिर मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा व उप मुख्यमंत्री सह नगर विकास मंत्री हेमंत सोरेन का किया गया। रजिस्ट्रेशन करावाने वालों को मौके पर हाथों-हाथ रसीद दिया गया।

कब तक मिलेगा कार्ड
राज्यपाल ने नगर विकास विभाग के निदेशक सुनील कुमार से पूछा कि कार्ड कब तक मिलेगा? क्या इसमें पता बदलवाने की सुविधा है? आदि कई जानकारियां चाही। सुनील कुमार ने राज्यपाल को बताया कि एक महीने में कार्ड उपलब्ध करा दिया जाएगा। इसमें पता बदलवाने की सुविधा उपलब्ध है।

नौ महीने का लक्ष्य
सरकार ने आधार योजना तहत कार्ड बनाने वाली कंपनी को सूबे के शहरी क्षेत्रों में नौ महीने में कार्ड बनाने का समय दिया है। सभी 36 निकाय क्षेत्रों में अलग-अलग कंपनी को कार्ड बनाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। बता दें कि सरकार ने शहरी क्षेत्रों में कार्ड बनाने के लिए नगर विकास विभाग को अधिकृत किया गया, जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में ग्रामीण विकास विभाग द्वारा कार्ड बनाया जा रहा है। केन्द्र सरकार के यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथोरिटी ऑफ इंडिया (यूआईडीएआई) की आधार परियोजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में 11 लाख से ज्यादा लोगों का रजिस्ट्रेशन किया जा चुका है।

प्रचार प्रसार के निर्देश
नगर विकास विभाग ने लोगों को रजिस्ट्रेशन के लिए जागरूक करने की जिम्मेदारी नगर निकायों को सौंपी है। विभाग द्वारा निकायों को निर्देश दिया गया है स्थानीय स्तर प्रचार-प्रसार कर लोगों को रजिस्ट्रेशन के बारे में बताया जाए।

क्या-क्या होगा दर्ज
कार्ड में रजिस्ट्रेशन कराने वाले व्यक्ति का नाम, पिता का नाम, पता, फोटो, दोनों आंख के पुतली की फोटो, दसों अंगुली के फिंगर प्रिंट के अलावा 12 अंक का विशेष कोर्ड जारी किया जाएगा। कार्ड बनाने में प्रति व्यक्ति कम से कम 15 मिनट से आधा घंटा का समय लगेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राज्यपाल के रजिस्ट्रेशन से यूआईडी कार्ड बनाने का शुभारंभ