अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोंकाडीह, बुरुडीह, आमलेशा में चुनावी सभा

तमाड़ के मान - सम्मान के लिए वोट दें, फिर मेरा काम देखें। एक बार मुझ जैसे बूढ़े आदमी को जितायें, क्षेत्र की तसवीर बदल देंगे। 40 वर्षो तक मैं झारखंड आंदोलन के लिए लड़ता रहा। झारखंड अलग राज्य तो बना पर सपने साकार नहीं हो रहे। यह बातें शिबू सोरन ने तमाड़ के दौरे और चुनावी सभा में कही। उन्होंने सोमवार को तमाड़ में आधा दर्जन चुनावी सभाओं को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि यहां नहर में पानी नहीं है। इस कारण 50-60 हेक्टेयर जमीन में धान की खेती नहीं होती। नौ जनवरी के बाद यहां नहर बना दी जायेगी। इसके बाद चारों ओर हरियाली ही नजर आयेगी। अपने अंदाज में गुरुाी बोले: जब मैं नौजवान था, तब पहाड़-पर्वत हिलता था। दिल्ली-पटना हिलता था। उन्होंने पांच जनवरी को तीर-धनुष छाप में वोट देने की अपील की। मौके पर पूर्व विधायक कालीचरण मुंडा, गुलफाम मुजिबी, मो मंजूर अंसारी, जगदीश साहू, शशिभूषण राये सलीम खान, नरंद्र लाल उपस्थित थे।ड्ढr तमाड़ की जनता विकास चाहती है : रामेश्वर उरांवड्ढr बुंडू। केंद्रीय मंत्री रामेश्वर उरांव ने कहा कि तमाड़ की जनता विकास चाहती है और वह गुरुाी को जिताने का मन बना चुकी है। वे सोमवार को बुंडू के डमारी, पीवादिरी, बुंडू के दौरे पर थे। कांग्रस नेता रोशनलाल भाटिया ने कहा कि शिबू सोरन की कुर्बानी का कर्ज तमाड़ की जनता उन्हें जिता कर उतार। उनके साथ मंजूर अहमद अंसारी, शशि भूषण राय, जगदीश साहू, सलीम खान मौजूद थे।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कोंकाडीह, बुरुडीह, आमलेशा में चुनावी सभा