DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अधिकारी रवैए में परिवर्तन लाए तो झारखंड सशक्त बनेगाः भगवती

झारखंड हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति भगवती प्रसाद ने शुक्रवार को कहा है कि राज्य में अच्छे पदाधिकारी है और यदि वे सिर्फ अपने रवैए में परिवर्तन लाए तो झारखंड सशक्त बनेगा। न्यायमूर्ति प्रसाद गिरिडीह से रांची जाने के दौरान यहां परिसदन में दो घंटे तक रूके और इस दौरान उन्होंने वरिष्ठ पदाधिकारियों से बातचीत की।

उन्होंने कहा कि सीमाओं का उल्लंघन अतिक्रमण है और कोई भी समाज सीमाओं के उल्लंघन को बर्दाश्त नहीं कर सकता। अतिक्रमण किसी के हित में नहीं है और अनुशासित समाज ही आगे बढ़ता है जबकि अनुशासनहीनता विकास में बाधक है।

उन्होंने कहा कि किसी समाज में अनुशासन नहीं होता है तो वहां विकास नहीं हो सकता है। न्यायालयों में न्यायाधीशों की कमी का जिक्र किए जाने पर मुख्य न्यायाधीश ने कहा कि यदि सुप्रीम कोर्ट से स्वीकृति मिली तो राज्य में 90 न्यायाधीशों की नियुक्ति हो जाएगी और तब निचली अदालतों में न्यायाधीशों की कमी नहीं रहेगी।

उन्होंने कहा कि जब वह आए थे तो झारखंड हाईकोर्ट में 12 न्यायाधीश थे जबकि आज 14 न्यायाधीश हैं। जल्द ही कई नए न्यायाधीशों की भी नियुक्ति होने वाली है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अधिकारी रवैए में परिवर्तन लाए तो झारखंड सशक्त बनेगाः भगवती