DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाजपा ने मरांडी के अनशन को औचित्यहीन करार दिया

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की झारखंड इकाई ने राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी के आमरण अनशन पर प्रश्न चिन्ह लगाते हुए इसे शुक्रवार को औचित्यहीन करार दिया। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता प्रदीप सिन्हा ने यहां कहा कि झारखंड विकास मोर्चा (प्रजातांत्रिक) का अड़ियल रवैया सरकार के साथ वार्ता विफल होने का मुख्य कारण है।

सरकार के साथ वार्ता में झाविमों प्रतिनिधिमंडल में शामिल नेताओं का रुख नकारात्मक होने की वजह से समझौते के बिन्दु पर नहीं पहुंचा जा सका। झाविमों जिन मुद्दो को लेकर पिछले छह दिनों से आंदोलन की राह पर है उसमें आम जनों की भागेदारी न के बराबर होना यह साबित करता है कि यह आंदोलन जनता का न होकर सिर्फ झाविमो का कार्यक्रम बन कर रह गया है।

सिन्हा ने कहा कि कांग्रेस के राज्य स्तर के शीर्ष नेताओं की इस कार्यक्रम से दूरी बनाए रखना यह संकेत करता है कि दोनो गठबंधन दल श्रेय लेने की होड़ में एक दूसरे पर विश्वास नहीं करते। उन्होंने कहा कि मरांडी जिद छोड़कर सकारात्मक रुख अपना कर अतिक्रमण हटाओं अभियान से प्रभावित गरीबों की बेहतर पुनर्वास के लिए प्रयास करें तो प्रभावित परिवारों को लाभ पहुंच सकता है लेकिन सिर्फ अपनी राजनीति चमकाने के लिए जनता को दिग्भ्रमित करने का प्रयास सिफर साबित होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भाजपा ने मरांडी के अनशन को औचित्यहीन करार दिया