DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डेवी के प्रत्यर्पण के लिए डेनमार्क जाएगी सीबीआई

डेवी के प्रत्यर्पण के लिए डेनमार्क जाएगी सीबीआई

सीबीआई का एक दल पुरुलिया में हथियार गिराने के मामले के प्रमुख आरोपी किम डेवी को भारत लाएगी। इसके लिए एजेंसी प्रत्यर्पण की प्रक्रिया को तेज करने अगले सप्ताह डेनमार्क रवाना हो सकती है।
    
सीबीआई के एक अधिकारी और एक वकील का यह दो सदस्यीय दल 14 या 16 मई को सभी उपलब्ध सबूतों के साथ डेनमार्क जाएगा ताकि वहां की अदालत में डेवी के खिलाफ आरोपों की पुष्टि की जा सके।
    
सीबीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि दल डेवी के खिलाफ इकट्ठा किए गए सबूतों और तथ्यों के साथ स्थानीय अधिकारियों की सहायता करने के लिए जा रहा है। यह मामला अब भी डेनमार्क की एक अदालत में लंबित है।
    
डेनमार्क की एक निचली अदालत ने नील्स किश्चिएन नीलसेन उर्फ किम डेवी के प्रत्यर्पण की इजाजत दे दी थी जिसके बाद उसने निचली अदालत के आदेश को चुनौती देते हुए ऊपरी अदालत की शरण ली थी।

सीबीआई ने 17 दिसंबर 1995 की रात को पश्चिम बंगाल के पुरूलिया के एक खेत में एक विदेशी विमान के जरिये एके 47 रायफल, टैंक भेदी गोले और अन्य हथियारों सहित आधुनिकतम हथियारों को गिराने के संबंध में 28 दिसंबर 1995 को एक मामला दर्ज किया था। एजेंसी के आग्रह पर 1996 में किम डेवी के खिलाफ इंटरपोल ने रेड कार्नर नोटिस जारी कर दिया था।

इसके बाद 2001 में उसके डेनमार्क में मौजूद होने की जानकारी मिली और भारत ने उसे प्रत्यर्पित करने के प्रयास किये हालांकि दोनों देशों के बीच कोई प्रत्यर्पण संधि नहीं है। सरकार ने कहा था कि विदेश मंत्री ने इस मुद्दे को डेनमार्क के उप प्रधानमंत्री की हाल की भारत यात्रा के दौरान उठाया था। डेनमार्क की सरकार भारत से यह सुनिश्चित करना चाहती थी कि प्रत्यर्पित किए जाने के बाद डेवी को फांसी की सजा नहीं दी जाएगी जिस पर भारत सरकार ने सहमति जताई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डेवी के प्रत्यर्पण के लिए डेनमार्क जाएगी सीबीआई