DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विधायक शेखर तिवारी को उम्रकैद

विधायक शेखर तिवारी को उम्रकैद

उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में वर्ष 2008 में हुए इंजीनियर मनोज गुप्ता हत्याकांड मामले में आरोपी बसपा विधायक शेखर तिवारी समेत दस अभियुक्तों को शुक्रवार को लखनऊ की विशेष सत्र अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई।

अपर जिला जज वीरेन्द्र कुमार की पीठ ने मामले के आरोपी बसपा विधायक शेखर तिवारी के साथ-साथ अन्य अभियुक्तों विनय तिवारी, राम बाबू, योगेन्द्र दोहरे उर्फ भाटिया, मनोज अवस्थी, देवेन्द्र राजपूत, संतोष तिवारी, गजराज सिंह, पाल सिंह और डिबियापुर थाने के पूर्व प्रभारी होशियार सिंह को उम्रकैद तथा 68-68 हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई।

शेखर तिवारी औरैया से बसपा के विधायक हैं। तिवारी की पत्नी विभा तिवारी को सबूत मिटाने के जुर्म में ढा़ई साल कैद और साढ़े चार हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई गई है। अभियोजन पक्ष के मुताबिक, 23 दिसम्बर 2008 की रात औरैया के डिबियापुर थाना क्षेत्र में इंजीनियर मनोज गुप्ता की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई थी। यह हत्या कथित रूप से मुख्यमंत्री मायावती के जन्मदिन के जश्न के लिए धन देने से मना करने पर की गई थी।

वारदात में मारे गए इंजीनियर की पत्नी शशि गुप्ता ने इस मामले में विधायक समेत 11 लोगों के खिलाफ डिबियापुर में मुकदमा दर्ज कराया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विधायक शेखर तिवारी को उम्रकैद