DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अलकायदा पतन की ओरः CIA

अलकायदा पतन की ओरः CIA

अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए ने कहा है कि ओसामा बिन लादेन का मारा जाना आतंकवादी संगठन अलकायदा को शिकस्त देने और उसे नेस्तनाबूद करने के अमेरिकी नेतृत्व वाले अभियान की सबसे बड़ी जीत है।

सेंट्रल इंटेलीजेंस एजेंसी (सीआईए) ने कहा कि आतंकवादी संगठन को वस्तुत: खत्म कर देने के लिए उठाया गया यह एक बड़ा और जरूरी कदम है। एजेंसी ने जोर दिया कि हालांकि, अलकायदा तुरंत नहीं ढह जाएगा, लेकिन बिन लादेन के मारे जाने से यह खतरनाक संगठन अब पतन के रास्ते पर है और उसके लिए दोबारा सिर उठाना मुश्किल होगा।

बिन लादेन अलकायदा का संस्थापक था और संगठन के 22 वर्ष के इतिहास में सिर्फ वही उसका अमीर (कमांडर) रहा। सीआईए ने कहा कि बिन लादेन ही उसके संगठन के रहस्यों, धन उगाही की उसकी क्षमता, नए आतंकवादियों की भर्ती और आतंकवादी हमलों के लिए अमेरिका को निशाना बनाने के उसके लक्ष्य के लिए जिम्मेदार था। वह अलकायदा का ऐसा एकमात्र नेता था, जिसके फरमान पूरी दुनिया के आतंकवादी मानते थे।

पाकिस्तान में अमेरिकी सेना द्वारा इस्लामाबाद के निकट ऐबटाबाद में दो मई की तड़के चलाए गए अभियान में बिन लादेन को मार गिराया गया। सीआईए ने कहा कि मिशन की कामयाबी कई वर्ष के जटिल, गहन और अत्याधुनिक खुफिया अभियानों और दूसरे देशों में मौजूद भागीदार खुफिया एजेंसियों के विश्लेषणों पर आधारित रही।

सीआईए ने कहा कि अमेरिकी एजेंसियां अगस्त 2010 में ऐबटाबाद स्थित लादेन के परिसर का पता लगने के बाद से उस पर नजर रखे हुए थीं। कई तरह की खुफिया जानकारी के बाद यह निष्कर्ष निकाला गया कि लादेन अपने दो करीबी साथियों के साथ उसी घर में छिपा है।

खुफिया एजेंसी ने कहा कि परिसर पर हमले की अनुमति 29 अप्रैल को अमेरिकी राष्ट्रपति ने दी थी। यह विशेष अभियान बलों का एक छोटा लेकिन लक्ष्य साधकर किया गया हमला था। इस अभियान को इस तरह आकार दिया गया था, जिससे परिसर के अंदर संभावित तौर पर मौजूद गैर-आतंकवादियों या पड़ोस में रह रहे पाकिस्तानियों को कम से कम नुकसान हो और उनके समक्ष खतरा न्यूनतम रहे।

सीआईए ने कहा कि बिन लादेन के परिसर और घर में अत्याधुनिक सुरक्षा व्यवस्थाएं थीं। उसमें तार की बाड़ लगी ऊंची दीवारें थीं, प्रवेश के लिए दो द्वार थे, अपारदर्शी खिड़कियां थीं और कोई इंटरनेट या टेलीफोन कनेक्शन नहीं था। इस परिसर की कीमत 10 लाख डॉलर आंकी गई है, लेकिन अलकायदा के जिन दो मददगार इसके मालिक हैं, उनके पास जाहिरा तौर पर इतनी दौलत नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अलकायदा पतन की ओरः CIA