DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

26/11 व 9/11 में समानता नहीं: US

26/11 व 9/11 में समानता नहीं: US

अमेरिका अपने देश पर हुए 9/11 हमले और मुंबई पर हुए 26/11 के कायराना हमले के बीच कोई भी समानता बताने से बच रहा है और वह अपने विशेष बलों द्वारा पाकिस्तान के भीतर अलकायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन को मार गिराने जैसी भारत की किसी भी कोशिश का समर्थन करने के प्रति अनिच्छुक नजर आ रहा है।

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मार्क टोनर ने कहा कि मैं उस अभियान के बाद किसी भी तरह के कयास नहीं लगाना चाहता जो अमेरिका तथा विश्व इतिहास की साफ तौर पर बेमिसाल घटना है और जिसके तहत हमने विश्व के संभवत: सबसे वांछित और अमेरिका सहित दुनिया भर के लोगों के खिलाफ घृणित अपराध करने वाले व्यक्ति को मार गिराया है।

वह इस सवाल का जवाब दे रहे थे कि क्या अमेरिका की आत्म रक्षा के अधिकार की नीति भारत जैसे देशों पर भी लागू होती है क्योंकि मुंबई के 26/11 हमलों का षडयंत्र रचने वाले आतंकवादी पाकिस्तान के भीतर आजाद घूम रहे हैं।

टोनर ने कहा, मैं इस बारे में व्यापक तौर पर कुछ टिप्पणी नहीं करना चाहता। हम अब तक यही कहते आए हैं कि ओसामा एक ऐसा व्यक्ति था, जिसके खिलाफ हमारे पास कार्रवाई करने योग्य खुफिया जानकारी थी और हमने उसके खिलाफ कार्रवाई की क्योंकि हमारा मानना था कि वह अमेरिका के लिए प्रत्यक्ष और संभावित खतरा है।

उन्होंने कहा कि वह भारत में आतंकवाद से जुड़े सभी मामलों से अवगत हैं, जिसमें भारत की संसद और मुंबई पर हुआ आतंकवादी हमला शामिल है। टोनर ने कहा कि आतंकवाद निरोध पर हमारा भारत और पाकिस्तान के साथ सहयोग सतत जारी है और हमारा मानना है कि यह सहयोग ठीक आतंकवादी तत्वों के खिलाफ निर्देशित है।

पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठनों पर मुंबई हमले की साजिश रचने, उसके लिए वित्तीय मदद देने, उसे अंजाम देने तथा 166 लोगों की जान लेने का आरोप है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:26/11 व 9/11 में समानता नहीं: US