DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सहवाग के तूफान से चार्जर्स की बत्ती गुल

सहवाग के तूफान से चार्जर्स की बत्ती गुल

वीरेंद्र सहवाग ने इंडियन प्रीमियर लीग मैच में गुरुवार को यहां डेक्कन चार्जर्स की गेंदबाजी का कत्लेआम करते हुए आईपीएल में अपना पहला शतक जड़कर दिल्ली डेयरडेविल्स को चार विकेट की जीत दिला दी।

सहवाग की सिर्फ 56 गेंद में खेली 119 रन की पारी की बदौलत दिल्ली ने 176 रन के लक्ष्य को एक ओवर शेष रहते छह विकेट के नुकसान पर 179 रन बनाकर हासिल कर लिया। दायें हाथ के इस बल्लेबाज ने 54 और 70 रन के स्कोर पर मिले दो जीवनदान का पूरा फायदा उठाते हुए छह छक्के और 13 चौके जड़े। वह आईपीएल में शतक जड़ने वाले छठे भारतीय और कुल 16वें बल्लेबाज हैं।

मेहमान टीम के अन्य बल्लेबाज हालांकि असफल रहे। सहवाग ने कप्तानी पारी खेलते हुए अकेले दम पर टीम को लक्ष्य तक पहुंचाया। सहवाग के दबदबे का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है उनके अलावा केवल जेम्स होप्स (नाबाद 17) और इरफान पठान (12) ही दोहरे अंक तक पहुंच पाये। उन्होंने ट्रेविस बर्ट के साथ चौथे विकेट लिए 61 और पठान के साथ पांचवें विकेट के लिए 67 रन की साझेदारी की जिसमें इन दोनों का योगदान क्रमश: चार और 11 रन का रहा।

इससे पहले चार्जर्स ने डुमिनी (31 गेंद में चार छक्कों और दो चौकों की मदद से 55 रन) और कुमार संगकारा (44) की उम्दा पारियों की मदद से पांच विकेट पर 175 रन बनाए। दिल्ली की टीम के 10 मैचों में चार जीत से अब आठ अंक हैं जबकि  अपने घरेलू मैदान पर 15 आईपीएल मैचों में 14वीं शिकस्त क्षेलने वाले चार्जर्स के 10 मैचों में केवल छह अंक हैं। दिल्ली अंक तालिका में सातवें जबकि चार्जर्स आठवें स्थान पर है।

दिल्ली की शुरूआत काफी खराब रही और उसने 25 रन के स्कोर तक ही आरोप फिंच (00), नमन ओक्षा (07) और वेणुगोपाल राव (03) के विकेट गंवा दिए।

मेजबान टीम ने तीसरे ओवर में ही डी रवि तेजा (02) का विकेट गंवा दिया जो अविष्कार साल्वी की गेंद को पुल करने की कोशिश में विकेटकीपर ओक्षा को कैच दे बैठे। शिखर धवन (29) और संगकारा ने दूसरे विकेट के लिए 39 रन जोड़े। संगकारा ने धीमी शुरूआत की और अपनी सातवीं गेंद को कट करके चार रन के साथ खाता खोला।

संगकारा ने मोर्कल पर लगातार तीन चौकों के साथ अपने तेवर दिखाये। वह नौवें ओवर में अजित अगरकर की गेंद पर भाग्यशाली रहे जब मोर्कल ने शार्ट फाइन लेग पर उनका बेहद आसान कैच टपका दिया। इस गेंदबाज ने हालांकि इसी ओवर में धवन को मिड आन पर साल्वी के हाथों कैच करा दिया।

संगकारा जीवनदान का अधिक फायदा नहीं उठा पाए। वह जेम्स होप्स की गेंद को लेग साइड में खेलने के प्रयास में हवा में लहरा गये और कवर्स में सहवाग ने उनका कैच लपकने में कोई गलती नहीं की। उन्होंने 36 गेंद का सामना करते हुए आठ चौके जड़े।

डुमिनी और क्रिस्टियन ने इसके बाद अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी और किस्मत के सहारे मैच का एख पलट दिया। डुमिनी ने होप्स के ओवर में चौका और फिर छक्का जड़ा लेकिन अगले ओवर में वह योगेश नागर की गेंद पर डीप मिडविकेट पर लपके गये पर यह नोबाल हो गई। क्रिस्टियन ने फ्री हिट पर चार रन जोड़े लेकिन अगली गेंद पर वह भी बैकवर्ड प्वाइंट पर कैच दे बैठे लेकिन नागर की यह गेंद भी नोबाल थी। डुमिनी ने फ्री हिट पर गेंद को मिडविकेट के उपर से छह रन के लिए भेजा।

डुमिनी ने अगरकर पर भी छक्का जड़ा जबकि मोर्कल की गेंद पर छह रन के साथ सिर्फ 30 गेंद में अपना अर्धशतक पूरा किया। वह हालांकि अगली ही गेंद पर दो रन लेने की नाकाम कोशिश में रन आउट हो गए। डेक्कन ने अंतिम सात ओवर में 83 रन जोड़े। दिल्ली की ओर से अगरकर ने 29 रन देकर दो विकेट चटकाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सहवाग के तूफान से चार्जर्स की बत्ती गुल