DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस वालों को भी नहीं बख्शा

गुरुवार सुबह दफ्तर के लिए हड़बड़ी में निकले लोगों को अंदाजा नहीं था कि उनकी तेज रफ्तार को थामने के लिए ट्रैफिक पुलिस का पूरा अमला महावीर चौक पर उनका इंतजार कर रहा है। गाज उन पर गिरी जो बगैर हेलमेट पहने घर से निकल पड़े। चालान कटने शुरु हुए तो यह भी नहीं देखा गया कि नियम तोड़ने वालों ने खाकी वर्दी पहनी हुई है। इफको चौक की तर्ज पर महावीर चौक में भी यातायात को सुगम बनाने के लिए विशेष अभियान चलाया गया।

यातायात को सुगम बनाने के साथ ही सफर को सुरक्षित बनाने के लिए भी ट्रैफिक अमले ने मशक्क्त की।  डीसीपी ट्रैफिक भारती अरोड़ा ने पूरी टीम के साथ महावीर चौक पर यातायात को बेहतर बनाने की कवायद की। ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों के चालान काटे गए। पुलिस ने लगभग सौ चालान काटे। डीसीपी अरोड़ा ने रेहड़ी वालों को इकट्ठा कर समझाया कि कैसे उनकी नासमङी के चलते जाम के हालात पैदा होते हैं। रेहड़ी वालों ने भी इन बातों का पूरा ध्यान रखने की बात कही। सड़क की खस्ता हालत के चलते भी बार-बार लगने वाले जाम से लोग परेशान हैं डीसीपी ने नगर निगम के संयुक्त आयुक्त वाई एस गुप्ता से इसकी मरम्मत करवाने की बात कही। संयुक्त आयुक्त ने भरोसा दिलाया कि जल्द ही आवश्यक काम पूरा कर लिया जाएगा। ऑटो चालकों को भी कतार बनाकर खड़े होने और रजिस्ट्रेशन करवाकर चलने की सलाह दी। अब तक इस अभियान के तहत 300 ऑटो चालकों के रजिस्टेशन किए जा चुके हैं। ट्रैफिक पुलिस ने ऑटो चालकों से जुड़ी सभी तरह की जानकारियां इकट्ठी करने का अभियान भी चला रखा है। इसमें उनकी फोटो, पता जुटाने के साथ ही उनके अंगूठे की छाप भ्ज्ञी ली जा रही है। महावीर चौक शहर के व्यस्ततम चौराहों में शुमार है और सुबह से लेकर शाम तक लोगों को बार-बार यहां जाम का सामना करना पड़ता है। डीसीपी अरोड़ा ने बताया कि यातायात सुगम बनाने के लिए 15 तारीख तक इस चौराहे पर यह अभियान जारी रखा जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पुलिस वालों को भी नहीं बख्शा