DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब निजी स्कूलों में पढ़ सकेंगे गरीब नौनिहाल

शहर के निजी स्कूलों में अब गरीब नौनिहाल भी पढ़ सकेंगे। निजी स्कूलों को गरीब नौनिहालों के लिए 25 प्रतिशत सीटें निश्चित करनी होंगी। गरीब छात्रों की  सरकारी फीस पर शिक्षा विभाग द्वारा अदा की जाएगी। शिक्षा विभाग ने सभी ब्लाक शिक्षा अधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्रों में संचालित हो रहे स्कूलों की संख्या एकत्र करने और 25 प्रतिशत गरीब बच्चाों का दाखिला सुनिश्चित कराने को कहा है। विभाग द्वारा इसकी मॉनिटरिंग की जाएगी। विभाग के इन आदेशों से उन छात्रों को फायदा मिल सकेगा जो धन के अभाव में शिक्षा से वंचित रह जाते हैं।


क्या है आदेश- शिक्षा विभाग द्वारा  जारी आदेश में कहा गया है कि 134-ए के नियमानुसार यह सुनिश्चित किया जाए कि सभी मान्यता प्राप्त निजी स्कूल संचालक अपने विद्यालय में गरीब मेधावी छात्रों के लिए अपने विद्यालय की 25 प्रतिशत सीटें आरक्षित रखे और हरहाल में गरीब बच्चाों का दाखिला सुनिश्चित करें। गरीब बच्चाों की फीस सरकारी दर पर विभाग द्वारा अदा की जाएगी। कोई भी स्कूल इस नियम की अनदेखी नहीं कर सकेगा।  इस बात की निगरानी सभी ब्लाक शिक्षा अधिकारियों को रखनी होगी और इस दाखिला सत्र की पूर्ण रिपोर्ट तैयार करके विभाग को सौंपनी होगी ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब निजी स्कूलों में पढ़ सकेंगे गरीब नौनिहाल