DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लादेन को मारने की वैधानिकता पर उठे सवाल

निहत्थे ओसामा बिन लादेन के अमेरिकी सैन्य बलों की गोलीबारी में मारे जाने के बाद एक बड़ी बहस खड़ी हो गयी है कि क्या आतंकवाद निरोधक अभियान, सैन्य अभियान या कानून प्रवर्तन प्रयास का हिस्सा है।

दरअसल युद्ध में जब शत्रु लड़ाके स्पष्ट रूप से आत्मसमर्पण नहीं करते हैं, तब वे निशाना समझे जाते है। सैन्य संदर्भ में बिन लादेन की हत्या वैध होगी, क्योंकि व्हाइट हाउस ने आधिकारिक रूप से कहा था कि बिन लादेन निहत्था तो था, लेकिन उसने गिरफ्तार किये जाने का विरोध किया।


इसके उलट, अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार कानून कहता है कि जबतक अधिकारियों या नागरिकों की जान पर सीधा खतरा उत्पन्न न हो जाए, पुलिस को संदिग्ध को जिंदा पकड़ने के लिए यथासंभव प्रयास करना चाहिए।

मानवाधिकार के लिए काम करने वाले संगठन ह्यूमैन राइट्स वाच की शाखा आतंकवाद एवं आतंकवाद निरोधक कार्यक्रम से जुड़े वरिष्ठ वकील एंड्रिया प्रासाओ ने कहा कि घातक बल प्रयोग नहीं करने की बहुत अधिक बाध्यता होती है। ओबामा प्रशासन ने कल इस बात पर बल दिया था कि नौसेना की सील टीम के हाथों बिन लादेन की हत्या बिल्कुल ही वैध सैन्य अभियान का हिस्सा थी।

अमेरिकी अटार्नी जनरल एरिक होल्डर ने सीनेट की न्याय समिति के समक्ष कहा कि वैध सैन्य निशाने के खिलाफ राष्ट्रीय आत्मरक्षा के रूप में गोलीबारी जायज थी। बाद में भी अमेरिकी अधिकारियों ने कहा कि जब सील के सैनिकों ने ओबामा को हथियार लेने के लिए आगे बढ़ता हुआ पाया जब उन्होंने उसकी हत्या कर दी। इस अभियान की जानकारी देने वाले अधिकारियों ने बताया कि जिस कमरे में अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी प्रमुख मारा गया, वहां एके 47 समेत कई हथियार थे।

अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों ने कहा है कि इस बात पर व्यापक असहमति है कि क्या बिन लादेन जैसे अलकायदा सदस्य वैध सैन्य निशाने हैं। न्यायेत्तर हत्याओं पर संयुक्त राष्ट्र के स्वतंत्र जांचकर्ता क्रिस्टोफ हींस ने इसी सप्ताह कहा कि कानूनविदों में इस बात पर व्यापक असहमति है कि क्या हम पाकिस्तान में अलकायदा के मामले में सशस्त्र संघर्ष से जूझ रहे हैं। अंतरराष्ट्रीय रेडक्रॉस समिति इस विषय पर आज बैठक कर रही है और उसने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया है। उधर, रेडक्रॉस के पूर्व कानूनी प्रमुख लुइसी डोसाल्ड बेक ने कहा है कि बिन लादेन स्पष्ट रूप से शत्रु लड़ाका था ही नहीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:निहत्थे लादेन को मारना उचित नहीं था: मानवाधिकार संगठन