DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जरूरत पड़ने पर पाक में फिर करेंगे कार्रवाई: अमेरिका

जरूरत पड़ने पर पाक में फिर करेंगे कार्रवाई: अमेरिका

अमेरिका जरूरत पड़ने पर पाकिस्तान में एबटाबाद जैसी कार्रवाई को दोबारा अंजाम दे सकता है, ताकि खतरनाक आतंकवादियों को निशाना बनाया जा सके।

व्हाइट हाउस के एक आला अधिकारी ने ओसामा बिन लादेन को मार गिराने के इस अभियान को बहुत सफल बताया है। इसके पहले पाकिस्तान ने कहा था कि लादेन के खिलाफ अमेरिका का यह अभियान अवैध एकपक्षीय कार्रवाई थी। पाकिस्तान के इस रुख के विपरीत व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जे कार्नी ने कहा कि अगर वह देश अपनी जमीन पर मौजूद संदिग्ध आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करता, तो ओबामा प्रशासन की यह नीति जारी रहेगी।

ओबामा प्रशासन ने यह भी कहा है कि अगर लादेन अमेरिकी कमांडो के सामने आत्मसमर्पण की पेशकश करता, तो उसे जीवित पकड़ लिया जाता। कार्नी ने कहा कि 09/11 के सूत्रधार को हेलीकॉप्टर से छापे की कार्रवाई के बाद कानून की जद में लाया गया और यह परिस्थितियों को देखते हुए पूरी तरह उचित कार्रवाई थी। उन्होंने बताया कि निश्चित तौर पर वह तरीका बहुत प्रभावी और पूरी तरह कानून के हिसाब से था।

कार्नी से पूछा गया कि पाकिस्तान सरकार ने एक वक्तव्य में कहा कि रविवार के छापे अवैध और एकपक्षीय कार्रवाई थी और भविष्य में अगर अलकायदा से जुड़े किसी व्यक्ति के लिए वैसे ही अभियान को अंजाम दिया जाना होगा, तो इस वक्तव्य का क्या असर होगा? इस पर उन्होंने कहा कि मैं निश्चित तौर पर इस तरीके के इस्तेमाल को प्रतिबंधित करने के बारे में कुछ नहीं कहूंगा, जितना मैं आपको यहां से बता सकता हूं।

अमेरिकी अधिकारी ने आगे कहा कि अमेरिका और हमारे सहयोगियों को नुकसान पहुंचाने की जो लोग साजिश कर रहे हैं, हम उन्हें तलाश कर उन्हें कानून के दायरे में लाना जारी रखेंगे। उन्होंने कहा कि अगर लादेन आत्मसमर्पण कर देता, तो अमेरिका संभवत: उसे सुरक्षित तरीके से हिरासत में ले लेता। कार्नी ने कहा कि इस अभियान को पूरी तरह से जंग के कानूनों के हिसाब से अंजाम दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जरूरत पड़ने पर पाक में फिर करेंगे कार्रवाई: ओबामा