DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकारी गर्ल्स स्कूल में होम गार्ड होंगे नियुक्त

स्कूल में किसी बच्चे का बीमार हो जाना या किसी वजह से घायल होने की स्थिति में उसे अस्पताल पहुंचाने की पहली जिम्मेदारी शिक्षक की होगी, जबकि इलाज कराने की स्कूल प्रशासन की। हाईकोर्ट ने साफ कहा है कि सरकार अपने इस जवाबदेही से बच नहीं सकती है। हाईकोर्ट ने यह टिप्पणी करते हुए राजधानी में स्कूल खासकर गर्ल्स स्कूलों की सुरक्षा को लेकर चिंता जाहिर की है। हाईकोर्ट ने स्कूलों की सुरक्षा को अहम बताते हुए सभी सरकारी गर्ल्स स्कूलों में दो-दो होम गार्ड नियुक्त करने का आदेश दिया है। हाईकोर्ट ने यह आदेश पिछले दिनों कुछ शरारती बच्चों द्वारा स्कूल के बाहर से फेंके गए पत्थर की चोट से एक आंख की रोशनी गवां चुकी 11वीं कक्षा की छात्र शायमा खान को मुआवजा देते हुए किया है। चीफ जस्टिस दीपक मिश्र व संजीव खन्ना की पीठ ने दिल्ली सरकार को पीड़ित छात्र के इलाज खर्च के अलावा तीन लाख रुपए मुआवजा भी देने को कहा है। पीठ ने कहा कि सरकार की जिम्मेदारी है कि भविष्य में इस प्रकार की घटना न हो।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सरकारी गर्ल्स स्कूल में होम गार्ड होंगे नियुक्त