DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इफको नाले के निरीक्षण के निर्देश

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने यूपी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को इफको फूलपुर के नाले का स्थल निरीक्षण करने का निर्देश दिया है। कोर्ट ने बोर्ड से यह देखने को कहा है कि इफको का गंदा पानी सीधे नाले में छोड़ा जा रहा है या पक्की दीवार बनाकर नाले को बंद कर दिया गया है। निरीक्षण की कार्रवाई पक्षकारों की मौजूदगी में करने का निर्देश देते हुए कोर्ट ने बोर्ड से इसकी रिपोर्ट भी दाखिल करने को कहा है।
यह आदेश मुख्य न्यायमूर्ति एफआई रिबेलो एवं न्यायमूर्ति प्रकाश कृष्णा की खंडपीठ ने दीपचंद्र एवं अन्य की ओर से दाखिल याचिका पर दिया है। याचिका में कहा गया है कि इफको का केमिकल युक्त गंदा पानी सीधे नाले में गिराया जा रहा है। केमिकल युक्त पानी गिराने जाने से नाले में उफान आता है और गंदा पानी आसपास खेतों में फैल जाता है। केमिकल युक्त पानी के कारण कई गांवों की खेती बर्बाद हो रही है। याचिका के माध्यम से गंदे पानी को नाले में गिराने पर रोक लगाने की मांग की गई है। दूसरी ओर इफको का कहना है गंदे पानी को ट्रीटमेंट के बाद ही नाले में गिराया जा रहा है। साथ ही नाले में उफान बरसात के मौसम में ही आता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इफको नाले के निरीक्षण के निर्देश