DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुंबई के सामने ढेर हुए पुणे के वारियर्स

मुंबई के सामने ढेर हुए पुणे के वारियर्स

मुंबई इंडियंस ने बल्ले और गेंद से बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए पुणे वारियर्स को आईपीएल-4 के मुकाबले में 21 रन से शिकस्त दे दी। पुणे की टीम जीत के लिए मिले 161 रन के जवाब में 20 ओवर में सात विकेट खोकर 139 रन बना सकी। पुणे की ओर से मनीष पांडेय ने सर्वाधिक 59 रन की पारी खेली।

इससे पहले टीएल सुमन और कीरोन पोलार्ड की आतिशी पारियों की मदद से मुंबई इंडियन्स ने विषम परिस्थितियों से उबरते हुए सात विकेट पर 160 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया।

पुणे की ओर से लेग स्पिनर राहुल शर्मा ने किफायती गेंदबाजी करते हुए अपने कोटे के चार ओवर में सिर्फ सात रन देकर दो विकेट चटकाए। कप्तान युवराज सिंह ने उनका अच्छा साथ निभाते हुए 22 रन देकर दो विकेट हासिल किए। मुंबई की टीम ने नियमित अंतराल पर विकेट गंवाए तथा सुमन (16 गेंद में 36 रन, तीन छक्के और तीन चौके) और पोलार्ड (21 गेंद में 29 रन, दो छक्के और दो चौके) की ताबड़तोड़ पारियों की मदद से ही टीम 150 रन के पार पहुंच पाई।

टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरी मुंबई की टीम की शुरुआत खराब रही और उसने तीसरे ओवर में ही एडन ब्लिजार्ड (6) का विकेट गंवा दिया जो अल्फांसो थामस की गेंद से छेड़छाड़ के प्रयास में विकेट के पीछे लपके गए। विकेटकीपर रोबिन उथप्पा ने अपनी बायीं ओर गोता लगाते हुए बेहतरीन मैच लपका।

कप्तान सचिन तेंदुलकर (24) और अंबाती रायुडू (27) ने दूसरे विकेट के लिए 40 रन जोड़े। थामस की गेंद पर चौके के साथ खाता खोलने वाले तेंदुलकर ने अगले ओवर में श्रीकांत वाघ पर भी दो चौके मारे। युवराज ने पांचवें ओवर जब गेंद वेस्टइंडीज के जेरोम टेलर को थमाई तो रायुडू ने उनका स्वागत लगातार दो चौकों के साथ किया। उन्होंने तेंदुलकर के साथ मिलकर 6.1 ओवर में टीम का स्कोर 50 रन तक पहुंचाया।

युवराज में छठे ओवर में गेंदबाजी की बागडोर खुद संभाली तो तेंदुलकर ने फाइन लेग क्षेत्र पर चौका जड़कर उन्हें नसीहत दी। बाएं हाथ के इस स्पिनर ने हालांकि अगले ओवर में तेंदुलकर को शार्ट एक्सट्रा कवर पर जेसी राइडर के हाथों कैच करा दिया। उन्होंने 24 गेंद की अपनी पारी में पांच चौके मारे।

युवराज ने इसके बाद राहुल शर्मा के साथ मिलकर मुंबई के बल्लेबाजों को फिरकी पर नचाया। मुंबई ने आठवें से 11वें ओवर में बीच चार ओवर में केवल 13 रन जोड़े जबकि इस दौरान तेंदलुकर और रायुडू के विकेट गंवाए। रायुडू तेजी से रन बनाने के दबाव के बीच युवराज की गेंद को उठाकर मारने की कोशिश में लांग आफ पर मनीष पांडे को आसान मैच दे बैठे।

रोहित शर्मा (20 गेंद में 12 रन) और सुमन ने इसके बाद पारी को आगे बढ़ाया। रोहित को रनों के लिए जूझना पड़ा जबकि सुमन ने खुलकर बल्लेबाजी की। सुमन ने राइडर की गेंद को लांग आन पर छह रन के लिए भेजने के बाद टेलर पर भी छक्का जड़ा।

रोहित हालांकि राहुल की बाहर की ओर स्पिन होती गेंद को छह रन के लिए भेजने की नाकाम कोशिश में डीप लांग आन पर मनीष पांडे को आसान कैच दे बैठे। सुमन ने 16वें ओवर में थामस पर दो चौकों और एक छक्के के साथ 16 रन बटोरे तथा टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया। वह हालांकि अगले ओवर में राहुल की गेंद को हवा में लहरा गए और मिथुन मन्हास ने लांग आफ पर आसान कैच लपका।

एंड्रयू साइमंड्रस (3) भी जल्द पवेलियन लौटे लेकिन पोलार्ड ने तूफानी पारी खेली। उन्होंने 19वें ओवर में थामस पर दो छक्कों और दो चौकों की मदद से 27 रन जोड़े। हरभजन सिंह तीन गेंद में आठ रन बनाकर नाबाद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुंबई के सामने ढेर हुए पुणे के वारियर्स