DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तेरे बिन लादेन..

ओसामा तुम नहीं रहे। जाने के बाद कितने याद आओगे, यह नहीं पता, लेकिन जाते-जाते कई लोगों को बेरोजगार और दुखी जरूर कर गए हो। अमेरिका से लेकर अफगानिस्तान तक और ऑस्ट्रेलिया से लेकर पाकिस्तान तक। यहां तक कि भारत में भी सारे पत्रकार दुखी हैं। पत्रकार दुखी हैं कि अब कौन टेप भेजेगा, जिसे छाप-छापकर नौकरी बचाई जाएगी। कहां जाएंगे वे बेसिर-पैर विश्लेषणों के दिन और आतंकवाद विशेषज्ञ की उपाधियां?

हम आज भले ही खुश हैं कि बहुत काम है, लेकिन हमें पता है कि आने वाले दिन बड़े खराब होने वाले हैं। हमें भी अब दौड़ना पड़ेगा खबरों के लिए। तुम थे, तो स्टूडियो में बैठकर लाइव कर दिया करते थे कि तुमने फलां-फलां कहा और फलां-फलां चीज चाहते थे। तुम महान थे लादेन, तुमने कभी पत्रकारों की बात नहीं काटी। दुखी पाकिस्तान भी है। कहते तो सब थे, लेकिन अब पक्की बात हो गई कि देश में क्या हो रहा है इसका पता जरदारी से पहले ओबामा को होता है। सुना है कि तालिबान वाले कह रहे हैं कि अब हमारा दुश्मन नंबर एक अमेरिका नहीं, बल्कि पाकिस्तान है। लीजिए जरदारी साहब और कियानी साहब, आपके लिए और काम, जिसके पैसे अमेरिका भी नहीं देगा। टीवी पर बराक ओबामा घोषणा करते खुश दिखे होंगे, लेकिन उनको भी पता है कि लादेन को मारने के बाद मुश्किल बढ़ गई है। अब उनको भी विकास के काम करने होंगे। मंदी से डराने के लिए लादेन का भूत नहीं मिलेगा।
बीबीसी ब्लॉग में सुशील झा

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तेरे बिन लादेन..