DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पेट्रोल, डीजल का दाम बढ़ाने की तैयारी

पांच विधानसभा चुनावों के लिए अगले सप्ताह मतदान पूरा हो जाने के बाद केंद्र सरकार की पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढोतरी की योजना है जिसके तहत तीन रुपए प्रति लीटर तक की वृद्धि की जा सकती है।
 
पेट्रोलियम मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों पर फैसला करने के लिए वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी की अध्यक्षता में गठित मंत्री समूह की 11 मई को बैठक बुलाई गई है। जिसमें डीजल की कीमतों में बढोतरी के संबंध में कोई फैसला लिए जाने की उम्मीद है।

पेट्रोल के दाम सरकार ने पहले ही प्रशासनिक मूल्य नियंत्रण प्रणाली से अलग किए हुए हैं। किंतु अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में उछाल के बावजूद पांच विधानसभाओं के चुनावों के मद्देनजर पेट्रोल दाम भी नहीं बढ़ाए गए हैं। ऐसी उम्मीद है कि पेट्रोल और डीजल दोनों की कीमतों में तीन-तीन रुपए प्रति लीटर तक की बढोतरी का फैसला लिया जा सकता है।
 
रिजर्व बैंक के गवर्नर डी सुब्बाराव ने भी कल 2011-12 की लोन एवं मौद्रिक नीति पेश करते हुए ईंधन की कीमतों को बढ़ाने की सलाह दी थी। डा सुब्बाराव ने कहा था कि पेट्रोल, डीजल की कीमतों में इजाफे से हालांकि मुद्रास्फीतिकारी दबाव बढे़गा। इसके बावजूद सरकार को वित्तीय घाटे को काबू में रखने के लिए दामों में बढोतरी करनी चाहिए।
 
इस बीच सरकार रसोई गैस पर दी जाने वाली सब्सिडी को नियत्रित करने के उद्देश्य से उपभोक्ता को सालाना चार सिलेडर पर ही सब्सिडी देने की योजना पर विचार कर रही है। इससे अधिक सिलेंडर की खपत करने पर उपभोक्ता को बाजार दर से सिलेंडर खरीदना पड़ सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पेट्रोल, डीजल का दाम बढ़ाने की तैयारी