DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नॉकआउट की उम्मीद बरकरार रखने उतरेंगे चार्जर्स, डेयरडेविल्स

नॉकआउट की उम्मीद बरकरार रखने उतरेंगे चार्जर्स, डेयरडेविल्स

आईपीएल में मात्र तीन-तीन मैच जीतकर नाजुक दौर से गुजर रहीं डेक्कन चार्जर्स और दिल्ली डेयरडेविल्स की टीमें जब गुरुवार को यहां राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में टूर्नामेंट के चौथे सत्र में आपस में भिडेंगी तो उनका लक्ष्य जीत दर्ज कर नॉकआउट में जगह बनाने की अपनी उम्मीदों को बरकरार रखना होगा।
 
चाजर्स और डेयरडेविल्स दोनों का ही टूर्नामेंट में अब तक का सफर काफी मिला जुला रहा है। दोनों ही टीमों के छह-छह अंक है। लेकिन अंक तालिका में नेट रन रेट के आधार पर डेक्कन चार्जर्स सातवें और दिल्ली डेयरडेविल्स आठवें स्थान पर हैं।
 
कुमार संगकारा की कप्तानी में चार्जर्स ने टूर्नामेंट में अब तक खेले नौ मैचों में से मात्र तीन में ही जीत दर्ज की है जबकि छह मैचों में उन्होंने हार का मुंह देखा है। टीम चेन्नई सुपरकिंग्स और कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ अपने पिछले दोनों मैच गंवा चुकी है। चार्जर्स की पूरी कोशिश होगी कि इस बार वह जीत दर्ज कर हार की हैट्रिक बनने से रोके।
 
वहीं वीरेंद्र सहवाग की कप्तानी में दिल्ली की टीम ने भी नौ मैचों में से तीन में ही जीत हासिल की है और छह मैचों में उसे हार मिली है। टीम को अपने पिछले मैच में कोच्चि टस्कर्स केरल के हाथों सात विकेट से हार का सामना करना पडा था।

लेकिन दोनों ही टीमों के कप्तानों को उम्मीद है कि वह टूर्नामेंट में अपने बाकी मैच जीतकर वापसी कर सकते हैं और इसी इरादे से दोनों टीमें राजीव गांधी स्टेडियम में अपना दम खम दिखाने उतरेंगी। सहवाग ने कोच्चि के हाथों हार झेलने के बाद कहा था कि नॉक आउट चरण में जगह बनाना मुश्किल भले ही हो लेकिन यह नामुमकिन नहीं है लेकिन इसके लिए हमें बेहद अच्छा खेलना पड़ेगा।

डेक्कन चार्जर्स का उदाहरण देते हुए सहवाग ने कहा था कि पिछले सत्र में डेक्कन लगातार पांच मैच जीतकर नॉक आउट चरण में पहुंच गई थी तो दिल्ली के लिए भी यह कोई मुश्किल नहीं है।

तो वहीं चार्जर्स के कप्तान संगकारा ने भी कहा था कि अब भी हमारे पास कुछ मैच बचे हैं और टी20 में कुछ भी हो सकता है। हम इस हार के बाद अगले मैचों में वापसी करने की पूरी कोशिश करेंगे। इसी सत्र में दोनों टीमों के बीच इससे पहले हुए मुकाबले में चार्जर्स ने 16 रन से डेयरडेविल्स के खिलाफ जीत दर्ज की थी। इस बार भी टीम इतिहास दोहराना चाहेगी। इस मैच में सन्नी सोहेल ने 62 रन, कप्तान संगकारा ने 49 रन और कैमरन व्हाइट ने 31 रन की शानदार पारियां खेलकर टीम को 168 रन के स्कोर तक पहुंचाया। तो वहीं डेनियल क्रिस्टियन और हरमीत सिंह ने दो-दो विकेट चटकाकर डेयरडेविल्स को 152 पर ही ऑलआउट कर दिया था।

चार्जर्स के पास सन्नी सोहेल, शिखर धवन और रवि तेजा जैसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने पिछले मैच में केकेआर के खिलाफ अच्छी बल्लेबाजी की थी। लेकिन गेंदबाज खास प्रदर्शन नहीं कर पाए थे और केकेआर ने टीम के सामने 170 रन का मजबूत लक्ष्य रख दिया था। दिल्ली के खिलाफ जीत दर्ज करने के लिए टीम को एक इकाई के रूप में खेलते हुए हर क्षेत्र में शानदार प्रदर्शन करना होगा।
 
वहीं दिल्ली की टीम में जीत की सारी जिम्मेदारी सहवाग ही वहन कर रहे हैं। यदि उनका बल्ला चलता है तो टीम मैच जीतती है लेकिन यदि वह जल्दी आउट हो जाते हैं तो टीम हार जाती है। उनके अलावा वेणुगोपाल राव भी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने कोच्चि के खिलाफ पिछले मैच में 40 रन बनाए थे।
 
हालांकि टीम के पास इरफान पठान, मोर्न मोर्कल और वॉन डेर मर्व जैसे गेंदबाज है लेकिन कोच्चि के खिलाफ पिछले मैच में गेंदबाज बुरी तरह पिट गए थे। केवल मोर्कल और मर्व को ही एक एक विकेट मिला था। चार्जर्स और डेयरडेविल्स दोनों ही टीमें टूर्नामेंट से लगभग बाहर हो चुकी हैं लेकिन वे वापसी करने की उम्मीद लगाए बैठी हैं। इस उम्मीद को जगाए रखने के लिए दोनों टीमों के लिए गुरुवार को जीत दर्ज करना बेहद जरूरी है। जो टीम अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देने में कामयाब रहेगी वहीं जीत का परचम लहरा पाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नॉकआउट की उम्मीद बरकरार रखने उतरेंगे चार्जर्स, डेयरडेविल्स