DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गरम जोशी से मिलाओ हाथ

अपने मुन्ना भाई एमबीबीएस की याद है? मुन्ना भाई की जादू की झप्पी हो या थ्री इडियट्स के रैंचो का आल इज वेल, दोनों जब भी किसी से मिलते थे, पूरी गरम जोशी से मिलते थे। आंखों में आंखें डाल कर बात करते। कोशिश करते कि सामने वाले को गले लगाएं या उससे हाथ मिलाएं।

हाथ मिलाने का रिवाज बहुत पुराना है। क्राइस्ट के जन्म से भी 5 सदी पहले से इंग्लैंड में सैनिक जब भी एक दूसरे से मिलते थे, हाथ मिलाते थे। उस समय हाथ मिलाने का मतलब होता था कि हम हैल्दी हैं। जो सोल्जर बीमार होता था, वह हाथ नहीं मिलाता था। हाथ मिलाने का भी अपना कायदा है। अगर हाथों में कुछ पहन रखा हो, ग्लोव्स आदि, तो हाथ मिलाना सही नहीं माना जाता। इस चलन के पीछे यह तर्क है कि जब हम किसी से हाथ मिलाते हैं तो एक दूसरे तक उनकी एनर्जी पहुंचती है। हाथ मिलाते समय अगर सामने वाला ढीला हाथ देता है, तो इसका मतलब है कि उसका कामकाज ठीक नहीं चल रहा।

हर देश में हैंड शेक करने के अलग-अलग तरीके हैं। जापान में हर बात पर लोग एक-दूसरे से हाथ मिलाते हैं और अजनबियों को झुक कर रेसपेक्ट देते हैं। चीन में लोग जब हाथ मिलाते हैं तो देर तक हाथ हिलाते रहते हैं। पनामा में लोग हाथ मिलाते समय आंखों से सलामी देते हैं। फ्रांस के लोग हाथ मिलाने के साथ-साथ हल्का सा किस भी करते हैं।

हैंड शेक के बारे में पर्सनैलिटी डेवलपमेंट एक्सपर्ट जग्गी सहगल कहते हैं- स्टुडेंट लाइफ से ही शेक हैंड करने की आदत डाल लेनी चाहिए। हाथ मिलाते समय सामने वाले की आंखों में आंखें डाल कर विश करें, गरम जोशी से हाथ मिलाएं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गरम जोशी से मिलाओ हाथ