DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बेकरार थे बराक

बेकरार थे बराक

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा बेसब्री के साथ, अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन के मारे जाने से सम्बंधित कूट संदेश मिलने का इंतजार कर रहे थे। यह कूट संदेश था : ‘जेरोनिमो ईकेआईए।’ समाचार पत्र ‘‘न्यूयार्क टाइम्स’’ ने कहा है कि इसका अर्थ यह है कि ओसामा बिन लादेन मारा जा चुका है।

बिन लादेन के लिए कूट नाम ‘जेरोनिमो था और ‘ईकेआईए’ का अर्थ था एनिमी किल्ड इन एक्शन (दुश्मन कार्रवाई में मारा गया)। सीआईए के निदेशक लियोन ई.पैनेटा ने जैसे ही यह आश्चर्यजनक घोषणा की, व्हाइट हाउस के सिचुएशन रूम में रविवार रात सन्नाटा छा गया। अंत में राष्ट्रपति ओबामा ने सन्नाटे को तोड़ा। कहा, ‘हमने उसे पा लिया।’ ओबामा और उनके सलाहकार पैनेटा को सिचुएशन रूम में एक वीडियो स्क्रीन पर देख रहे थे।

पैनेटा अपने मुख्यालय में बैठकर पाकिस्तान में घट रही घटना के बारे में जीवंत जानकारी दे रहे थे। उन्होंने कहा, ‘‘कमांडोज लक्ष्य तक पहुंच गए हैं।’’चंद मिनट बाद पैनेटा ने कहा, ‘हमें जेरोनिमो दिखाई दिया है। और उसके कुछ ही मिनट बाद उन्होंने कहा, ‘जेरोनिमो ईकेआईए।ओबामा प्रशासन के अधिकारी अभियान शुरू किए जाने को लेकर बंटे हुए थे। कुछ का मानना था कि इंतजार किया जाए और तबतक लगातार निगरानी रखी जाए जबतक कि और साफ न हो जाए कि बिन लादेन वाकई में वहां है। कुछ का मानना था कि कम जोखिम वाली बमबारी की जाए। अंत में राष्ट्रपति ओबामा ने बमबारी का विरोध किया, क्योंकि इससे इतना विध्वंस होता कि यह अनिश्चित रह जाता कि लादेन वाकई में मारा गया या नहीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बेकरार थे बराक