DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

12 घंटे में चार वारदातें, 41 लाख की लूट

मंगलवार को अपराधों से शहर दहला उठा। तेज गश्त के पुलिस दावों के बीच बेखौफ बदमाशों ने मात्र 12 घंटों में एक के बाद एक चार वारदात को अंजाम दिया। पुलिस का दिनभर तलाशी अभियान चलता रहा, पर हाथ कुछ नहीं आया।


पहली वारदात : मंगलवार आधी रात को कच्छाधारी बदमाशों ने गांव एतमादपुर में जयराज के मकान को निशाना बनाया। उनके तीन बेटे बाईपास रोड स्थित तीन मंजिला कोठी में रहते हैं। दो भाई प्रॉपर्टी का काम करते हैं, जबकि एक भाई फाइनेंस का बिजनेस करता है। रात करीब दो बजे नकाबपोश बदमाश मकान की बाहरी ग्रिल तोड़कर अंदर घुस आए। बदमाश बरामदे से होते हुए दूसरी मंजिल पर जा पहुंचे। एक कमरे में बृजेश व उनकी पत्नी बच्चाों के साथ सोई हुई थी। दूसरे कमरे में छोटा भाई परवेश सोया था। तीसरा भाई मनीष उस समय नोएडा की एक शादी में गया था। बदमाशों ने दोनों कमरे को बाहर से बंद कर दिया और उसे सोफा सेट के कपड़े से बांध दिया। इसके बाद बदमाशों ने आराम से लूटपाट को अंजाम दिया। इस बीच मनीष घर पहुंच गया। उसने देखा कि घर के आंगन में खड़ी कार का लॉक खुला है। उसने घर में घुसते ही कार का लॉक खुलने के बारे में मां से पूछा। इसी बीच उसे सीढ़ियों से बदमाश उतरते दिखाई दिए। अभी वह शोर मचा पाता कि बदमाशों ने उस पर पथराव कर दिया। इससे एक पत्थर उसके सिर में जा लगा। इससे लहलुहान मनीष अचेत होकर जमीन पर गिर पड़ा। मनीष की मां ने भी बदमाशों को पकड़ने का प्रयास किया, लेकिन सभी बदमाश तोड़ी हुई ग्रिल के रास्ते भाग निकले। बाद में बंधक बनाए लोगों को बाहर निकाला। सूचना मिलने पर पुलिस व फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट मौके पर पहुंच गए। बुजुर्ग मायादेवी ने बताया कि बदमाशों ने काले रंग का कच्छा और ग्रे कलर की टी शर्ट पहनी हुई थी। उन्होंने मुंह सफेद कपड़े से ढ़का हुआ था। बृजेश की पत्नी ने बताया कि बदमाश उनसे आधा किलो सोना व दो किलो चांदी के अलावा कीमती सामान लूटकर ले गए।
दूसरी वारदात: बदमाशों ने सेक्टर-14 में रहने वाले अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश के मकान को निशाना बनाते हुए वहां से करीब 16 लाख रुपये के आभूषण व एक लाख रुपये की नकदी चुरा ली। वारदात को अंजाम रात एक बजे से दो बजे के बीच में दिया गया। बदमाश बाईपास रोड की ओर से दीवार फांदकर मकान में घुसे, जहां उन्होंने ग्रिल तोड़कर स्टोर में प्रवेश किया। बदमाशों ने वहां रखी अलमारियों के ताले तोड़ डाले और उसमें रखा सारा सामान बिखेर दिया। अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश अनिल कुमार विमल ने बताया कि रात साढ़े 11 बजे तक उनका बेटे ने पढ़ाई की। इसके बाद वह दूसरी मंजिल पर बने कमरे में सो गया। अन्य दिनों की तरह विमल सुबह करीब तीन बजे सोकर उठा। अभी वे पूजा की तैयारी कर रहे थे कि पत्नी चाय बनाने नीचे किचन में पहुंची। उन्होंने देखा कि स्टोर का सामान बिखरा हुआ है और घर में रखी जेवरात व नकदी गायब है। उन्होंने तत्काल पुलिस कमिश्नर पीके अग्रवाल को इस बारे में अवगत कराया गया। थोड़ी देर में पुलिस दल-बल के साथ घटनास्थल पर पहुंच गई। फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट और खोजी कुत्ता भी वहां लाए गए। लेकिन बदमाशों का कोई सुराग नहीं लग सका है।
-----
तीसरी वारदात :
मंगलवार दोपहर स्विफ्ट कार में सवार तीन हथियारबंद बदमाशों ने राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित क्राउन प्लॉजा के सामने केशव मोटर्स पेट्रोल पंप के मैनेजर हरीराम झा को उस समय गोली मारकर साढ़े सात लाख रुपये लूट लिए, जब वह रुपयों से भरे बैग को बाइक से अकेले नीलम चौक स्थित एसबीआई लेकर जा रहे थे। बदमाशों ने उन्हें सेक्टर-20 ए में अजरौंदी गांव के पीछे जंगलों में घेर लिया। उन पर दो फायर किए। एक फायर पिस्टल से तथा दूसरा फायर देशी कट्टा से। इससे पहले बदमाशों ने हाथ में लिए डंडे से पिटाई की। उन्हें एक गोली जांघ में लगी। इसके बाद बदमाश रुपयों से भरा बैग लूटकर ले जाने में सफल रहे। खून से लथपथ मैनेजर ने पेट्रोल पंप मालिक के मोबाइल पर इस वारदात की जानकारी दी। आनन-फानन में पंप कर्मी घटनास्थल की और दौड़े, जहां उन्हें खून से लथपथ हालत में सेंट्रल अस्पताल में दाखिल कराया गया है। इससे पहले भी वर्ष 2009 में इस पंप पर बदमाशों ने कर्मचारियों के साथ मारपीट कर लूटपाट की थी। वारदात की सूचना मिलने पर पुलिस कमिश्नर पीके अग्रवाल, एसीपी क्राइम समेत पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए।

चौथी वारदात : शहर के मुख्य अम्बेडकर चौक पर मंगलवार दोपहर बाइक पर सवार होकर आए करीब आधा दजर्न हमलावरों ने एक मोबाइल युवा विक्रेता के साथ मारपीट कर उसे लहूलुहान कर दिया। हमलावरों ने दुकान में भी तोड़फोड़ की। आरोप है कि हमलावर दुकान के गले से करीब 50 हजार रुपये नकद, सोने की चेन, कड़ा व एक कीमती मोबाइल भी साथ ले गए। जाते-जाते एक कीमती मोबाइल दुकान कीफर्श पर पटक दिया। हमलावरों ने दुकान में मौजूद कर्मचारियों के साथ भी मारपीट की। घायल व्यापारी का उपचार सरकारी अस्पताल में चल रहा है। सूचना पर एसीपी बदन सिंह राणा भी व्यापारी की दुकान पर पहुंचे। शहर के व्यापारी अनिल गर्ग का बेटा गौरव अम्बेडकर चौक पर अनुव्रत कम्युनिकेशन के नाम से दुकान चलाता हैं। दोपहर के करीब एक बजे बाइक पर सवार होकर आए कुछ युवाओं ने गौरव के साथ मारपीट कर घायल कर दिया। दुकान में तोड़फोड़ करते हुए उन्होंने वहां रखे एनई नामक एक मोबाइल कीमत 23 हजार रुपये, गले में रखे करीब 50 हजार रुपये नकदी निकाल लिए। वह युवा व्यापारी के गले में पहनी सोने की चैन व एक सोने के कडे को भी लूट ले गए। इस दौरान हमलावरों ने दुकान में मौजूद कर्मचारी तरुण व राजू के साथ भी मारपीट की। घटना को अंजाम देने के बाद हमलावर दो बाइकों पर सवार होकर मुख्य बाजार से होते ही चंदावली की ओर भाग गए।
हाल की वारदातें
मई 2011 : सेक्टर-28 में घर में सो रही सीए की मां के साथ बदमाशों ने की मारपीट व लूटपाट
अप्रैल 2011 : सेक्टर-28 के ईश्वर यादव की मां से घर के दरवाजे पर चेन झपटी
अप्रैल 2011 : बल्लभगढ़ के गांव नरियाला की शीला देवी को सम्मोहित कर दो लाख ठगे
मार्च 2011 :  सेक्टर-19 में विमला देवी से गहने उतरवाए
फरवरी 2011 : सेक्टर-29 में बीना से गहने चमकाने के नाम पर 4 तोले सोने के गहने ठगे
दिसंबर 2010 : सेक्टर-16 में प्रेम सागर से मदद करने के नाम पर एक लाख पच्चीस हजार ठगे
अक्टूबर 2010 : टाउन नंबर-5 की अमृत कौर के गहने ठगे

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:12 घंटे में चार वारदातें, 41 लाख की लूट