DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इनेलो व बीजेपी मैदान में, कांग्रेस जल्द खोलेगी चुनावी पत्ता

नगर निगम चुनाव को लेकर बीजेपी और इनेलो खुलकर मैदान में आ गए हैं लेकिन अभी कांग्रेस ने अपने पत्ते नहीं खोले हैं। कांग्रेस अभी यह निर्णय नहीं कर पा रही है कि वह किस आधार पर उम्मीदवारों को समर्थन दे। इस बारे में अंतिम फैसला 5 मई को पार्टी बैठक में होने का कयास लगाया जा रहा है। 


नगर निगम को लेकर नामांकन की प्रक्रिया पूरी की जा चुकी है। अब आवेदन पत्रों की जांच की जा रही है। काफी उठापटक के बाद अब मैदान में आ चुके प्रत्याशियों को लेकर प्रदेश की तीनों राजनौतिक दल मंथन में जुट गए हैं। माना जा रहा है कि एक-दो दिन में सभी दल चुनाव को लेकर अपने पत्ते खोल देंगे। हालांकि, बीजेपी और इनेलो की ओर से चुनाव को लेकर पूरी तैयारियां की गई हैं। इनेलो 33 सीटों से चुनाव लड़ रही है। वहीं बीजेपी ने सभी 35 वार्ड पर उम्मीदवारो की लिस्ट जारी की थी। लेकिन वोटर लिस्ट में नाम ना होने से एक उम्मीदवार नामांकन नहीं कर पाया है। दूसरी ओर कांग्रेस से निगम चुनाव पर पूरी तहर से नजर बनाए रखी हुई हैं। पार्टी की ओर से बनाई गई को-आर्डिनेशन कमेटी का पार्टी उम्मीदवारों पर कोई बस नहीं चला। सभी ताल ठोक कर अब मैदान में आ गए है।
जिला कांग्रेस के अध्यक्ष व समिति के संयोजक जीएल शर्मा ने कहा कि निगम में खड़े उम्मीदवारों की लिस्ट बनाई जा रही है। यह तय किया जाएगा कि किसी वार्ड में किसे समर्थन देना है। इसे लेकर पांच मई को पार्टी चुनाव समिति की बैठक होगी। इसमें बैठक में इसे बारे में अतिंम निर्णय लिया जाएगा। दरअसल सत्ता में होने के कारण कांग्रेस चुनाव में खुलकर आने से कतरा रही है। ऐसे में पार्टी कुछ भी स्पष्ट तौर पर खुलकर नहीं कर पा रही है। अंदर खाने में ही प्रत्याशियों को समर्थन दिए जाने की बात की जा रही है ताकि जो जीता वही कांग्रेस का प्रत्याशी होगा। बीजेपी इससे पहले ही आंतरिक कलह से जूझ रही है। कई नेताओं को गिनम का उम्मीदवार ना बनाए जाने से कुछ लोगों को पार्टी को बाय-बाय कर दिया है। पार्टी के कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाए हैं कि कुछ लोगों के चहेतों को उम्मीदवार बनाया गया है। अब पार्टी के नेता सबको एकजुट जुट करने के प्रयास में हैं। वैसे भी जिला बीजेपी कई गुटों में बंटी हुई है। पार्टी के कई उम्मीदवार अपने बलबूते पर चुनावी दंगल में हैं। हालांकि प्रदेश अध्यक्ष कृष्णपाल गुजर्र ने सभी वार्ड में उम्मीदवारों के चुनाव अभियान के लिए दो-दो लोगों को जिम्मेदारी तय की है। उधर, तीन साल बाद हो रहे चुनाव को लेकर सभी दलों व आरडब्ल्यूए संगठनों में उत्साह है। ऐसे में स्थानीय लोग भी मुद्दों को छोड़कर चुनाव की बात कर रहे हैं क्योंकि लोगों ने इस चुनाव को लेकर आजकल में लंबा समय निकाल दिया है। अब सभी लोगों की नजरें निगम के  मेयर पद पर बनी हुई हैं। ऐसे में आने वाले दो दिन में पूरी चुनावी तस्वीर स्पष्ट हो पाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इनेलो व बीजेपी मैदान में, कांग्रेस जल्द खोलेगी चुनावी पत्ता