DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुख्यमंत्री के पूर्व सलाहकार न्यायिक हिरासत में

उत्तराखंड में राज्य निगरानी विभाग द्वारा गिरफ्तार किये गये उत्तराखंड जल विद्युत निगम के पूर्व चेयरमैन तथा मुख्यमंत्री के पूर्व उर्जा सलाहकार योगेन्द्र प्रसाद को आज 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

   
प्रसाद को भ्रष्टाचार के आरोप में राज्य निगरानी विभाग ने कल गिरफ्तार किया था और आज उन्हें जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजकिशन की अदालत में पेश किया गया। न्यायाधीश ने प्रसाद को 14 दिनों के लिये न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

निगरानी विभाग के पुलिस अधीक्षक बी के जुयाल ने आज बताया कि प्रसाद के खिलाफ अपने कार्यकाल के दौरान निजी कंपनियों को करोडों रूपये का लाभ पहुंचाने का आरोप है। इस मामले की जांच निगरानी विभाग द्वारा की जा रही थी। उन्होंने बताया कि प्रसाद को कल विभाग के कार्यालय में पूछताछ के लिये बुलाया गया था, जहां उन्हें बाद में गिरफ्तार कर लिया गया था।
   
गत मार्च महीने में उत्तराखंड उच्च न्यायालय द्वारा प्रसाद की गिरफ्तारी पर लगायी गयी रोक को हटा लेने के बाद से ही निगरानी विभाग उनकी तलाश कर रहा था।
   
प्रसाद को वर्ष 2006 में उत्तराखंड के सलाहकार के रूप में नियुक्त किया गया था और वर्ष 2007 में उन्हें यूजीवीएनएल का चेयरमैन बना दिया गया था। उन्हें वर्ष 2010 में इस पद से यह कहकर हटा दिया गया था कि उनकी उम्र 65 वर्ष से अधिक हो गयी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुख्यमंत्री के पूर्व सलाहकार न्यायिक हिरासत में