DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चीन में निवेश बढ़ाएगी टाटा स्टील

दुनिया की 10वीं सबसे बड़ी इस्पात कंपनी और टाटा स्टील समूह की अनुषंगी कंपनी टाटा स्टील लिमिटेड बाजार में अपनी हिस्सेदारी बनाए रखने के लिए चीन में अपने निवेश को 2012 तक पांच प्रतिशत बढ़ाएगी।
   
कंपनी के प्रबंध निदेशक हेमंत मधुसुदन नेरूरकर ने यह जानकारी दी है। नेरूरकर ने चीन के सरकारी अखबार चाईना डेली से कहा कि चीन का इस्पात उद्योग में पिछले 10 साल में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है और हमें उम्मीद है कि चीन में कंपनी का कारोबार भी सालाना आधार पर पांच - सात प्रतिशत बढे़गा।
   
उन्होंने कहा कि फिलहाल कंपनी की कुल आमदनी में चीन का योगदान 3 से 4 प्रतिशत से अधिक नहीं है। स्थानीय जरूरतों को पूरा करने के अलावा टाटा स्टील चीन स्थित अपने संयंत्र से यूरोप और जापान को किए जाने वाले निर्यात में बढ़ोतरी करेगी। दोनों बाजारों को बाह्य आपूर्ति की जरूरत है।
   
नेरूरकर ने कहा कि फिलहाल कंपनी चीनी इस्पात कंपनियों के साथ भागीदारी करने के बारे में नहीं सोच रही है। हालांकि उन्होंने भविष्य में किसी तरह के सहयोग करने से इंकार नहीं किया।
   
उन्होंने कहा चीनी कंपनियों के साथ सहयोग में ऊर्जा संरक्षण, जलवायु परिवर्तन और दूसरे ऊर्जा बचाने वाले उत्पादों को भी शामिल किया जा सकता है। कंपनी की चीन में मुख्य समस्या उत्पादन की अधिक क्षमता है। यानी वास्तविक मांग के मुकाबले उत्पादन अधिक है। लेकिन उद्योग में ऊर्जा दक्षता को बढ़ावा दिए जाने से क्षमता में धीरे-धीरे गिरावट आएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चीन में निवेश बढ़ाएगी टाटा स्टील