DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आरोपों को साबित करें हाशन: मुरलीधरन

आरोपों को साबित करें हाशन: मुरलीधरन

श्रीलंका के महान स्पिनर मुथैया मुरलीधरन ने कहा है कि श्रीलंकाई क्रिकेट में मैच फिक्सिंग के चलन का आरोप लगाने वाले पूर्व कप्तान हाशन तिलकरत्ने को पहले सबूत पेश करने चाहिए।

मुरलीधरन ने कहा कि हसन ने यह सब क्यों कहा है, उन्हीं से पूछा जाना चाहिए। यदि कोई ऐसे आरोप लगा रहा है तो उसे पहले सबूत पेश करने चाहिए अन्यथा कोई भी मुकदमा कर सकता है।

तिलकरत्ने ने पिछले सप्ताह एक टीवी शो पर कहा था कि श्रीलंका में मैच फिक्सिंग का चलन 1992 से है और वह जल्दी ही इसमें लिप्त खिलाड़ियों के नामों का खुलासा करेंगे। उन्होंने हालांकि आज कहा कि वह नामों का खुलासा केवल आईसीसी के सामने ही करेंगे।

यह पूछने पर कि क्या अपने कैरियर में कभी उन्होंने श्रीलंकाई क्रिकेट में फिक्सिंग का सामना किया या किसी सटोरिये ने उनसे संपर्क करने की कोशिश की, इस अनुभवी ऑफ स्पिनर ने ना में जवाब दिया। इंडियन प्रीमियर लीग में कोच्चि के लिए खेल रहे इस गेंदबाज ने कहा, नहीं। लेकिन होता भी तो मैं इस बारे में किसी और को नहीं बल्कि आईसीसी की भ्रष्टाचार निरोधक ईकाई को ही बताता। यह आचार संहिता का हिस्सा है।

तिलकरत्ने ने 2011 विश्व कप फाइनल में टीम चयन पर भी उंगली उठाई है। यह पूछने पर कि इससे श्रीलंकाई क्रिकेट की छवि को नुकसान पहुंचा है, मुरलीधरन ने कहा कि आरोप साबित नहीं हुए हैं। उन्होंने कहा कि हाशन ने दावा किया है लिहाजा वह ही बताएंगे कि इसमें कितनी सच्चाई है। मैं क्या कह सकता हूं। मुझे नहीं लगता कि सिर्फ आरोप लगाने से श्रीलंका क्रिकेट की छवि को नुकसान पहुंचा है।

आस्ट्रेलिया के खिलाफ 1992 में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने वाले मुरलीधरन ने पिछले साल टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कहा। उन्होंने वनडे क्रिकेट में आखिरी मैच इस साल दो अप्रैल को भारत के खिलाफ विश्व कप फाइनल खेला जिसमें उनकी टीम छह विकेट से हार गई। टेस्ट (800) और वनडे (519) में सर्वाधिक विकेट मुरलीधरन के नाम है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आरोपों को साबित करें हाशन: मुरलीधरन