अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली मैट्रो में कैमरों से रखी जाएगी निगरानी

मुंबई की आतंकवादी घटना के बाद मैट्रो रेल से सफर करने वाले प्रत्येक यात्री की गतिविधि पर कैमरे से पैनी निगाह रखी जाएगी। मैट्रो रेल के प्रवक्ता अनुज दयाल ने मंगलवार को पटेल चौक रेलवे स्टेशन पर मैट्रो संग्रहालय के उद्घाटन के अवसर पर कहा कि दूसरे चरण के लिए जो रेल आ रही है, उसमें यह सुविधा होगी। मैट्रो रेल के दूसरे चरण की पहली लाइन विश्वविद्यालय से जहांगीरपुरी तक जल्द ही शुरु होने की उम्मीद है। दयाल ने कहा कि मैट्रो रेल प्रशासन सुरक्षा को लेकर काफी सतर्क है और वह इसमें किसी प्रकार की ढ़िलाई नहीं बरत रहा है। संग्रहालय में दिल्ली मैट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) के कंपनी के रूप में अस्तित्व से लेकर अब तक शुरू की गई सेवाआें और भविष्य की परियोजनाआें को बड़े शानदार ढंग से दर्शाया गया है। पटेल चौक मैट्रो स्टेशन के भीतर बनाया गया यह संग्रहालय दक्षिण एशिया का पहला मैट्रो रेल सेवा का संग्रहालय है। अनुज दयाल ने कहा कि मैट्रो रेल संग्रहालय बनाने की प्रेरणा लंदन ट्रांसपोर्ट संग्रहालय से मिली। उन्होंने कहा कि मैट्रो का यह पहला संग्रहालय है और भविष्य में इसका बड़े स्तर पर विस्तार किया जाएगा। संग्रहालय में मैट्रो से जुड़ी घटनाआें को अंग्रेजी में प्रदर्शित किया गया। उन्होंने बताया कि संग्रहालय के विस्तार में इसे हिंन्दी समेत अन्य भाषाआें में भी प्रदर्शित किया जाएगा। संग्रहालय में एक बिक्री काऊंटर भी है जिसमें मैट्रो से जुड़ी यादों के बारे में लिखी गई पुस्तकें, पैन, टाई और मैट्रो चाबी का गुच्छा बेचने के लिए प्रदर्शित किए गए हैं। डीएमआरसी तीन मई 1में एक कंपनी के रूप में पंजीकृत हुई और एक अक्टूबर 1में इसका निर्माण कार्य शुरु हुआ। पहले चरण के लिए निर्धारित परियोजनाएं अपने समय से काफी पहले पूरी कर ली गई। पहले चरण में करीब 65 किलोमीटर रेल लाईन बिछाई गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दिल्ली मैट्रो में कैमरों से रखी जाएगी निगरानी