DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फजीहत से शर्मसार पाकिस्तान

फजीहत से शर्मसार पाकिस्तान

पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद से महज 60 कि.मी. दूर एबटाबाद के सैन्य प्रशिक्षण अकादमी के पास ही विश्व के दुर्दात आतंकवादी ओसोमा बिन लादेन के मारे जाने से पाकिस्तान पूरी तरह बेनकाब हो गया है।

इस फजीहत का गुस्सा पाकिस्तानी मीडिया में नजर आया। वक्त, समा और डॉन जैसे चैनलों पर लादेन के मारे जाने की घटना पर चर्चा करने वाले तमाम विशेषज्ञ पाकिस्तानी हुक्कामों की झूठ बोलने की आदत को कोसते रहे। विशेषज्ञों ने इसके लिए पूर्व जनरल परवेज मुशर्रफ समेत मौजूदा पाकिस्तानी फौज को जिम्मेदार ठहराया जिन्होंने बार-बार पाकिस्तान में लादेन की मौजूदगी से इनकार किया।

एक विशेषज्ञ ने सवाल उठाया कि एबटाबाद में तीस फीट ऊंची दीवार बनाने पर पाबंदी है लेकिन ओसामा के मकान की दीवारें इससे भी ऊंची थी। ऐसे में एबटाबाद छावनी के कमांडर ने जो छावनी बोर्ड का चेयरमैन भी होता है, क्यों आपत्ति नहीं की। जाहिर है ओसामा पाकिस्तानी फौज की देखरेख में एबटाबाद में रह रहा था।

मीडिया में चर्चा है कि ओसामा को मारने के बाद अब पाकिस्तान के उन तमाम इलाकों पर अमेरिकी ड्रोन हमले तेज होंगे। खबरों के मुताबिक, ओसामा की पत्नी और कुछ लोगों को अमेरिकी उठा कर ले गए हैं। इनसे मिली जानकारी के आधार पर पाकिस्तान में अल कायदा ठिकानों पर जोरदार हमलों की संभावना है।

पाकिस्तानी मीडिया इस बात से भी शर्मसार है कि अमेरिका ने यह कार्रवाई पाकिस्तानी सरकार, फौज और आईएसआई को बताए बगैर की। एक वक्ता का कहना था कि भले ही वॉर ऑन टेरर पर पाकिस्तान अमेरिका का साथी है लेकिन अमेरिका को पाकिस्तानियों पर कोई यकीन नहीं है। उसे लगता है कि यदि यह ऑपरेशन पाकिस्तान की सहमति से किया जाता तो आईएसआई और फौज के लोग ओसामा को भगा देते।

यह सवाल भी उठाए जा रहे हैं कि जब अमेरिकी हेलीकॉप्टर पाकिस्तान की सीमा में घुसे तब पाकिस्तानी वायुसेना के राडार और खुफिया तंत्र को इसकी भनक क्यों नहीं लगी? यह आशंका भी जताई गई कि यदि इसी तरह से विदेशी मुल्क के हेलीकॉप्टर उसकी सरजमीं में घुसने में कामयाब हो सकते हैं तो कोई भी दुश्मन मुल्क कभी भी पाकिस्तान के खिलाफ सजिर्कल स्ट्राइक कर सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फजीहत से शर्मसार पाकिस्तान