DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इसरो को मिला मुख्यमंत्री का सुराग

इसरो को मिला मुख्यमंत्री का सुराग

अरुणाचल प्रदेश के दुर्गम पहाड़ी इलाकों में 100 से अधिक बचावकर्मियों ने राज्य के मुख्यमंत्री दोरजी खांडू को लेकर लापता हुए हेलीकॉप्टर का पता लगाने के लिए मंगलवार सुबह एक बार फिर तलाशी अभियान शुरू किया। इसरो को पहली बार संभावित सुराग मिला है।

ज्ञात हो कि उपग्रह के माध्यम से इलाके से लिए गए चित्रों की मदद से तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। भारतीय अंतरिक्ष शोध अनुसंधान (इसरो) के रडार ने पहले संभावित सुराग के तौर पर तवांग जिले में सेला दर्रे के निकट नागारजीजी इलाके में धातु टुकड़ों का पता लगाया है।

इसरो के राडार ने इस इलाके में कुछ धातु के चमकीले टुकड़ों का पता लगाया है। ऐसा माना जा रहा है कि संभवत: यह टुकड़े लापता हेलीकॉप्टर के हो सकते हैं। आपदा प्रबंधन टीम के एक अधिकारी ने बताया, ''सेला दर्रे के ऊपर मूसलाधार बारिश होने से तलाशी अभियान चलाने में बचाव दल के सामने परेशानियां खड़ी हो रही। बचाव दल ने मंगलवार को एक निश्चित स्थान पर तलाशी अभियान शुरू किया।''

राज्य के ऊर्जा मंत्री जारबोम गामलिन ने कहा, ''तलाशी अभियान में जुटा बचाव दल जब तक वहां नहीं पहुंच जाता तब तक हम नहीं जानते कि वह हेलीकॉप्टर का मलबा है या कुछ और चीज है।'' तलाशी अभियान के तहत दो एमआई-17 हेलीकॉप्टरों ने सेला दर्रा के ऊपर सर्वेक्षण अभियान शुरू किया है।

वायुसेना के प्रवक्ता रंजीब साहू ने कहा, ''तवांग और सेला दर्रा के पास दो हेलीकॉप्टरों ने तलाशी अभियान के तहत सुबह 6.05 बजे उड़ान भरी।'' गौरतलब है कि मुख्यमंत्री खांडू और चार अन्य लोगों के ले जा रहा पवन हंस का एएस350 बी-3 हेलीकॉप्टर शनिवार को लापता हो गया था। हेलीकॉप्टर ने शनिवार को तवांग से 9.50 बजे सुबह उड़ान भरी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इसरो को मिला मुख्यमंत्री का सुराग