DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धौनी के पांच सूत्र

धौनी के पांच सूत्र

1. मेहनत का विकल्प नहीं

मैं ही नहीं, दुनिया का हर शख्स यह जानता और मानता है कि बगैर मेहनत के कुछ नहीं मिलता। हमें पता होना चाहिए कि लक्ष्य क्या है। यह भी मालूम होना चाहिए कि यह लक्ष्य बिना कठिन परिश्रम के हासिल नहीं होने वाला। जैसे ही मैंने क्रिकेट को समझना शुरू किया, मैंने ठान लिया कि इसी में आगे बढ़ना है। मुझे यह विश्वास था कि मैंने यदि रन बनाए तो फिर मैं किसी भी टीम से खेलूं, मुझ पर नजर जाएगी ही।

2.खुद पर हो विश्वास

आपको यदि खुद पर विश्वास नहीं है तो फिर आप कुछ नहीं कर सकते। आत्मविश्वास बहुत बड़ी चीज है। यदि सेल्फ कॉन्फिडेंस न हो तो बाकी गुणों का महत्त्व आधा हो जाता है। जब मैं स्कूल में था, मुझे खुद पर विश्वास था कि मैं एक दिन भारत की टीम में खेलूंगा। मैं समझता हूं कि हर किसी को यह आत्मविश्वास होना चाहिए कि जो वह चाहता है, कर सकता है।

3. दूसरों पर भी भरोसा करो

अपने ऊपर विश्वास तो होना ही चाहिए, लेकिन इसके साथ-साथ दूसरों पर भरोसा होना भी बहुत जरूरी है।

4. ज्यादा मत सोचो

मेरा मानना है कि जो आपने करना है, उस पर बहुत ज्यादा नहीं सोचना चाहिए। मैं बहुत प्लान बना कर नहीं चलता। भारतीय क्रिकेट टीम में मेरे कप्तान बनने से पहले बहुत मीटिंग्स हुआ करती थीं। लेकिन अब वह कम हो गई हैं। मैं समझता हूं, जो करना है वह स्थितियों के अनुसार वक्त आने पर करना होता है। आप जो स्ट्रैटजी बना कर चलते हैं, उसमें परिस्थितियों के अनुसार बदलाव की गुंजाइश भी होनी चाहिए। बहुत ज्यादा योजना बनाना भी मेरी नजर में अच्छा नहीं। लेकिन मैं यह नहीं कह रहा कि आप सोचना और प्लानिंग करना ही बंद कर दें।

5.आलोचना से डरो नहीं

आप कितना भी अच्छा करें, आपके आलोचक होंगे ही। मेरे भी हैं। मेरी सलाह है कि आलोचनाएं यदि हों तो उनसे परेशान नहीं होना चाहिए। यदि समय दे सकें तो उनकी विवेचना करें। आप अपने काम के प्रति कितने संजीदा और ईमानदार हैं, बस यही मायने रखता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:धौनी के पांच सूत्र