DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुलपति और रजिस्ट्रार की पेशी

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के पंत हॉस्टल स्थित आईएएस प्री एग्जामिनेशन कोचिंग सेंटर का विवाद दिल्ली पहुंच गया है। श्याम चंद सहित हॉस्टल के अन्य छात्रों की शिकायत पर राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष डॉ. पीएल पुनिया ने सोमवार को दिल्ली में कुलपति प्रो. एके सिंह और रजिस्ट्रार जेएन मिश्र से वार्ता की।

वार्ता में शामिल श्याम ने बताया कि डॉ. पुनिया ने छात्रों की शिकायत के बाद भी कोचिंग सेंटर के प्राचार्य एवं रक्षा अध्ययन विभाग के शिक्षक प्रो. एमएन वर्मा को न हटाने पर आपत्ति की है। बकौल श्याम, कुलपति ने अध्यक्ष को भरोसा दिलाया है कि डॉ. वर्मा को हटाकर उनके स्थान पर अनुसूचित या पिछड़ी जाति के किसी दूसरे शिक्षक की तैनाती की जाएगी। अध्यक्ष ने कहा है कि प्रवेश के वक्त छात्रों से आठ हजार रुपये अग्रिम धनराशि न ली जाए। आईएएस प्री का रिजल्ट घोषित होने तक छात्रों को हॉस्टल में रहने दिया जाए।

आईएएस प्री परीक्षा में हुए बदलाव को देखते तीन या चार प्री की तैयारी के लिए प्रवेश देने, कोचिंग सेंटर में कम्प्यूटर की सुविधा मुहैया कराने, योग्य शिक्षकों से पढ़वाने तथा हॉस्टल के कर्मचारियों को नियमित कर वेतन देने के मसले पर भी वार्ता हुई। कुलपति ने कहा कि कोचिंग सेंटर के लिए बजट सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रलय से मिलता है और नियम और निर्देश भी मंत्रलय से ही जारी होते हैं। अध्यक्ष ने कहा कि अगर किसी नियम या निर्देश की वजह से छात्रों को असुविधा हो रही हो तो उसे बदलने/संशोधित करने के लिए मंत्रलय को पत्र लिखा जाए। बता दें कि पिछले वर्ष आईएएस प्री परीक्षा के बाद छात्रों को हॉस्टल से निकाल दिया गया था। इसके बाद से ही छात्र प्राचार्य डॉ. वर्मा के खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कुलपति और रजिस्ट्रार की पेशी