DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोच्चि ने दिल्ली से किया हिसाब बराबर

कोच्चि ने दिल्ली से किया हिसाब बराबर

दिल्ली डेयरडेविल्स के कप्तान वीरेन्द्र सहवाग की फिरोजशाह कोटला मैदान में ग्रीन टाप पाने की इच्छा आज उल्टे उनके ही गले पड़ गई और कोच्चि टस्कर्स केरल ने मेजबान टीम को आईपीएल-4 मुकाबले में बेहद आसानी से सात विकेट से हराकर पिछली हार का बदला चुका लिया।

कोच्चि के तेज गेंदबाजों ने सधी गेंदबाजी का प्रदर्शन करते हुए डेयरडेविल्स को छह विकेट पर 140 रन के मामूली स्कोर पर रोक दिया और फिर ब्रैंडन मैकुलम (37), पार्थिव पटेल (37) और ब्रैड हौज (24) के तूफानी शुरुआत से 15 ओवर में तीन विकेट पर 141 रन बनाकर टूर्नामेंट में अपनी चौथी जीत हासिल कर ली।

कोच्चि इस जीत के साथ नौ मैचों में आठ अंकों के साथ आईपीएल की अंकतालिका में छठे स्थान पर पहुंच गई है जबकि दिल्ली को नौ मैचों में छठी हार का सामना करना पड़ा है। दिल्ली ने कोच्चि को उसके ही मैदान में हराया था लेकिन कोच्चि ने अब दिल्ली को उसी के मैदान में मात देकर उसका बदला चुका दिया।

दोनों टीमों के बीच यह मैच नई पिच पर खेला गया और सहवाग को उनकी उम्मीद के मुताबिक ग्रीन टाप दिया गया, लेकिन न तो दिल्ली के कप्तान उसका फायदा उठा पाए और न ही अन्य बल्लेबाज। कोच्चि के तेज गेंदबाजों ने टास जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने के फैसले का पूरा फायदा उठाते हुए दिल्ली को शुरुआत से ही दबाव में ला दिया और फिर अपनी पारी के दौरान मैकुलम की तूफानी शुरुआत ने रही-सही कसर से जीत हासिल कर ली।

इससे पहले कोच्चि टस्कर्स केरल के कप्तान महेला जयवर्धने ने टॉस जीतकर दिल्ली डेयरडेविल्स को बल्लेबाजी का न्यौता दिया और उनके गेंदबाजों ने इसे सही ठहराते हुए मेजबान टीम के बल्लेबाजों पर लगाम कसी। इस मैच में दिल्ली डेयरडेविल्स की बल्लेबाजी की समस्या बरकरार रही, दर्शक घरेलू मैदान पर कप्तान वीरेंद्र सहवाग की आक्रामक पारी देखने के लिए बेताब थे जिन्होंने कोच्चि के खिलाफ पिछले मैच में 47 गेंद में 80 रन की विस्फोटक पारी खेलकर अकेले दम पर टीम को 38 रन से जीत दिलाई थी। लेकिन उनकी यह तमन्ना पूरी नहीं हो सकी।

सहवाग (नौ गेंद में दो चौके और एक छक्का, 15 रन) ने पहले ओवर में दो चौके जमाकर अपनी आक्रामकता का सबूत दिया लेकिन अपना पहला आईपीएल मैच खेल रहे प्रशांत परमेश्वरन के पहले ओवर की पहली गेंद पर छक्का लगाने के बाद वह विकेटकीपर पार्थिव पटेल को कैच देकर आउट हो गए। अंपायर ने दिल्ली के कप्तान को इंतजार करने को कहा क्योंकि वह नो बाल की पुष्टि करना चाहते थे लेकिन उन्हें आउट करार कर दिया गया।

कोच्चि टस्कर्स की तरफ से परमेश्वरन और आर विनय कुमार ने दो-दो जबकि आरपी सिंह और एस श्रीसंत ने एक-एक विकेट हासिल किया। सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर (13) भी ज्यादा देर क्रीज पर नहीं टिक सके और 15 गेंद खेलने के बाद श्रीसंत की गेंद पर शाट खेलने की कोशिश में मिड आन पर खड़े विनय कुमार को कैच दे बैठे। इस तरह टीम ने 42 रन पर दूसरा विकेट गंवा दिया।

टीम अपने स्कोर में एक रन ही जोड़ा था कि नमन ओझा (13 रन) भी पवेलियन लौट गए। जिन्होंने सात गेंद खेलने के बाद परमेश्वरन के ओवर में लांग आफ पर छक्का और चौका लगाकार दर्शकों को खुश किया लेकिन वह आरपी सिंह की आफ स्टंप से दूर जाती गेंद पर ड्राइव करने कोशिश में विकेटकीपर को कैच थमा दिया।

वेणुगोपाल राव (40) और योगेश नागर (23) ने इस समय टीम को संभाला और चौथे विकेट के लिए 8.3 ओवर में 54 रन की भागदारी निभाई। वेणुगोपाल जब 14 रन के स्कोर पर थे तब रविंदर जडेजा की गेंद पर पटेल ने स्टंप का मौका गंवा दिया।

नागर ने 12वें ओवर की तीसरी गेंद पर दो टप्पा खाने के बाद गेंद को सीमा रेखा के पार कराया जो सभी के लिए रोमांच बन गया और इस पर विपक्षी टीम के कप्तान जयवर्धने सहमत नहीं थे और वह इसे डेड बाल चाहते थे, लेकिन अंपायर ने इसे नकार दिया क्योंकि तीन बार टप्पा खाने वाली गेंद को खेलने की अनुमति नहीं है जबकि इस गेंद ने केवल दो बार टप्पा खाया था।

लेकिन विनय कुमार की शार्ट गेंद पर नागर की 18 रन की पारी का अंत हुआ जो शाट लगाने के चक्कर में आरपी सिंह को फाइन लेग पर कैच देकर आउट हुए। इसके बाद वेणुगोपाल ने भी परमेश्वरन की शार्ट गेंद को ऊंचा उठा दिया और आरपी सिंह ने गेंद लपक ली। उन्होंने 36 गेंद का सामना करते हुए 40 रन की पारी में पांच चौके जमाए।

वेणुगोपाल के आउट होने के बाद ट्रेविस बर्ट (15 गेंद में 24 रन, पांच चौके) ने तेजी से रन बटोरने के लिए शाट जमाने शुरू किए लेकिन विनय कुमार की गेंद पर कवर ड्राइव खेलने की कोशिश में आउट हो गए जिनका कैच विकेटकीपर ने लिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कोच्चि ने दिल्ली से किया हिसाब बराबर