DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रेल यात्री भी मांग सकेंगे टीटीई से आई-कार्ड

ट्रेन में सफर के दौरान टीटीई बावर्दी नहीं है अथवा नेमप्लेट नहीं लगी है तो आपको टिकट दिखाने की कोई आवश्यकता नहीं है। इतना ही नहीं शक होने पर आप टिकट चेक कर रहे टीटीई से उसका आई-कार्ड भी मांग सकते हैं। जी हां, रेलवे बोर्ड की नई गाइड लाइन के तहत यह विशेषाधिकार करोड़ों रेल यात्रियों को मिलने जा रहा है। रेलवे मंत्रलय आगामी 15 मई को यह अधिसूचना जारी करने जा रहा है।


दरअसल रेलवे स्टेशन परिसर, प्लेटफार्म, लोकल ट्रेनों, लंबी दूरी की मेल-एक्सप्रेस आदि में टिकट चेकिंग के नाम पर रेल यात्रियों के साथ दुव्यर्वहार और धन उगाही के मामलों में तेजी से बढ़ोत्तरी हो रही है। प्रमुख रूट दिल्ली-मुंबई, दिल्ली-हावड़ा, दिल्ली-भोपाल आदि पर ऐसे गिरोह सक्रिय हैं जो यात्रियों को टिकट चेकिंग के नाम पर पैसा वसूली कर रहे हैं। इससे निपटने के लिए रेलवे बोर्ड ने कॉमर्शियल मैन्युअल में कई बदलाव किए हैं। इसके तहत टीटीई, टीसी, कंडक्टर (ट्रेन सुपरवाइजर)रेलवे मंत्रलय का टिकट चेकिंग दस्ता, जोनल और डिविजन स्तर के चेकिंग दस्ते के कर्मचारियों को डय़ूटी के दौरान वर्दी व नेमप्लेट लगाना अनिवार्य होगा।

अधिकृत अधिकारी के मांगने पर टिकट चेकिंग स्टाफ को डय़ूटी पास, अथॉरिटी लेटर, बैच नंबर, आई-कार्ड आदि दिखाना होगा। नियमों की अनदेखी करने पर रेल कर्मियों पर अनुशानात्मक कार्रवाई जुर्माना अथवा निलंबन की कार्रवाई की जाएगी। रेलवे बोर्ड की नई गाइड लाइन रेलवे के विजिलेंस विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों पर लागू नहीं होगी। उल्लेखनीय है कि रेलवे मंत्रलय, जोनल-डिविजन कार्यालय का टिकट चेकिंग दस्ता सादे कपड़े में डय़ूटी करता है। ट्रेनों-प्लेटफार्म पर अधिकांश टीटीई-टीटी के कोट पर नेम प्लेट गायब रहती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रेल यात्री भी मांग सकेंगे टीटीई से आई-कार्ड