DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'अमेरिका में राजकपूर को नहीं मिली ज्यादा पहचान'

'अमेरिका में राजकपूर को नहीं मिली ज्यादा पहचान'

प्रख्यात अभिनेता-फिल्मकार राजकपूर की फिल्में सिनेमाई उत्कृष्टता का खूबसूरत उदाहरण हैं। उनकी फिल्में न केवल भारत बल्कि विदेशों में भी मशहूर हैं। अब टोरंटो अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (टीआईएफएफ) की कोशिश है कि उत्तर अमेरिकी लोग भी राजकपूर के काम को समझें।

टीआईएफएफ, अंतर्राष्ट्रीय भारतीय फिल्म अकादमी (आईआईएफए) के साथ मिलकर 'राजकपूर रिट्रोस्पेक्टिव' का आयोजन कर रहा है। जिसमें इस मशहूर फिल्मकार की 'आग', 'आवारा', 'श्री 420' और 'संगम' सहित 15 चुनिंदा फिल्में प्रदर्शित की जाएंगी।

टीआईएफएफ के कलात्मक निदेशक नूह कॉवैन ने एक साक्षात्कार में कहा कि 'राजकपूर रिट्रोस्पेक्टिव' के आयोजन के लिए आईआईएफए से अनुरोध करने की कई वजहें थीं। हम टीआईएफएफ में रहते हुए लम्बे समय से ऐसा महसूस कर रहे थे कि उत्तर अमेरिका में राजकपूर को ज्यादा पहचान नहीं मिल सकी है। उनकी फिल्में भारतीय सिनेमा का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं और भारतीय सिनेमा, खासकर हिंदी सिनेमा को समझने के लिए उनकी फिल्में देखना जरूरी है।

उन्होंने कहा कि इसलिए हमारे लिए इस आयोजन का मकसद शैक्षिक है। हम वास्तव में चाहते हैं कि लोग इन फिल्मों को देखें। यहां का केवल दक्षिण एशियाई समुदाय ही नहीं बल्कि हर कोई इन फिल्मों को देखे। राजकपूर की फिल्मों के प्रदर्शन के साथ ही उनकी फिल्मों में इस्तेमाल हुई विभिन्न वस्तुओं को भी प्रदर्शन के लिए रखा जाएगा।

कॉवैन ने कहा कि हमें विश्वास है कि इस आयोजन से भारतीय सिनेमा को लोगों के बीच और पहचान मिलेगी। उनकी फिल्मों में इतना अधिक रचनात्मक कार्य है लेकिन उसे अंतर्राष्ट्रीय समुदाय में पर्याप्त सम्मान नहीं मिला है। हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि उत्तर अमेरिका राजकपूर की विरासत को समझे।

टोरंटो में आईआईएफए के पुरस्कार समारोह के एक दिन बाद 26 जून से 'राजकपूर रिट्रोस्पेक्टिव' का आयोजन होगा। इसमें ऋषि कपूर, रणधीर कपूर, राजीव कपूर, रणबीर कपूर, करीना कपूर सहित कपूर परिवार के अन्य सदस्य मौजूद रहेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'अमेरिका में राजकपूर को नहीं मिली ज्यादा पहचान'