DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शॉपिंग से मन होता है खुश

शॉपिंग से मन होता है खुश

सुपर मॉडल और डीजे बरखा कौल देर रात तक अपने काम में व्यस्त रहती हैं। कई बार काम का तनाव, तो कई बार उनका मन यूं ही उदास हो जाता है। ऐसी स्थिति से निकलने के लिए उन्होंने कई उपाए ढूंढ़ निकाले हैं। आइए जानते हैं उन्हीं से

जब मेरा मूड ज्यादा ऑफ हो जाता है तो खूब शॉपिंग करती हूं। शॉपिंग करना मुझे वैसे भी पसंद है। मार्केट में भी तरह-तरह की चीजें दिखती हैं, जिनमें अनेक नई चीजें नजर आती हैं। उन्हें खरीदकर मन रोमांचित होता है और बेहद खुशी की अनुभूति होती है। कुछ घंटे मार्केट में बिताने के बाद तनाव पैदा करने या दुखी करने वाली सारी बातें दिमाग से निकल जाती हैं और एक ताजगी का एहसास होता है।

डीजे के काम में मुझे घर लौटने में रात में काफी देर हो जाती है। इससे मेरे सोने और जागने का समय बिल्कुल अलग हो जाता है। दिन में देर तक सोना पड़ता है। अक्सर 7-8 घंटे की नींद पूरी कर लेती हूं, लेकिन कई बार ऐसा नहीं हो पाता। ऐसे में कई बार तनाव काफी बढ़ जाता है। इस तनाव से मुक्ति के लिए मुझे एक रास्ता दिखता है और वह होता है खूब सोने का। जैसे ही मौका मिलता है, मैं नींद पूरी करने की कोशिश करती हूं। नींद पूरी होने के बाद काफी रिलैक्स महसूस करती हूं और मन हल्का हो जाता है।

थकान की स्थिति में स्पा भी जाती हूं। वहां बॉडी मसाज करवाकर काफी खुशी महसूस करती हूं। घर में एक्सरसाइज करती हूं, लेकिन लगातार काफी काम होता है तो खुद को फिट रखने के लिए जिम भी जाती हूं।

थिएटर में जाकर मूवी देखना मुझे बेहद खुशी देता है। खासकर दोस्तों के साथ कोई अच्छी मूवी देखने को मिल जाती है तो मजा आ जाता है। मैं गंभीर फैमिली ड्रामा से बचती हूं। दूसरी तमाम फिल्में, चाहे एक्शन हो, कॉमेडी या रोमांटिक, पसंद आती हैं।

जब जरूरत महसूस होती है तो मेडिटेशन भी कर लेती हूं। मेडिटेशन से माइंड और बॉडी दोनों रिलैक्स रहते हैं और इसी कारण मैंने योगा सीखा। लेकिन समय के अभाव में नियमित रूप से योगा नहीं कर पाती।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शॉपिंग से मन होता है खुश