DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाकिस्तान में मारा गया ओसामा

पाकिस्तान में मारा गया ओसामा

दुनिया का वांटेड नंबर-1 आतंकवादी एवं अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन मारा गया है। मीडिया के अनुसार उसके शव को कब्जे में लेकर समुद्र में दफन कर दिया है।

वह 11 सितंबर 2001 को अमेरिका पर हुए सबसे भीषण आतंकी हमले का मास्टरमाइंड था। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने इसकी आधिकारिक घोषणा की। अमेरिकी अभियान में लादेन का एक बेटा तथा दो अन्य के भी मारे गए हैं।

अभियान का ब्यौरा देते हुए ओबामा ने कहा कि पिछले हफ्ते उन्होंने जोर देकर कहा था कि ओसामा बिन लादेन को न्याय के कठघरे में लाने के लिए कार्रवाई करने और अभियान चलाने के लिए हमारे पास पर्याप्त खुफिया जानकारी है।

उन्होंने कहा कि आज, मेरे निर्देश पर, अमेरिका ने पाकिस्तान में अबोटाबाद के उस परिसर को लक्ष्य कर अभियान चलाया। अबोटाबाद इस्लामाबाद के 150 किलोमीटर उत्तर में स्थित है।

ओबामा ने व्हाइट हाउस के ईस्ट रूम से विश्व के नाम संबोधन में कहा कि मैं अमेरिकी लोगों और विश्व को बता सकता हूं कि अमेरिका ने एक अभियान चलाया जिसमें हजारों निर्दोष पुरुषों, महिलाओं और बच्चों की मौत का जिम्मेदार अलकायदा नेता और आतंकवादी ओसामा बिन लादेन मारा गया।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने जैसे ही लादेन के मारे जाने के बारे में घोषणा की, वाशिंगटन में व्हाइट हाउस के बाहर और न्यूयॉर्क में तुरंत जश्न शुरू हो गया जहां दस साल पहले वर्ल्ड ट्रेड सेन्टर के टॉवर पर हुए आतंकी हमले में तीन हजार से अधिक लोग मारे गए थे।

ओबामा ने कहा कि न्याय हो गया है। उन्होंने कहा कि अमेरिकियों की एक छोटी टीम ने इस अभियान को अंजाम दिया। अभियान में कोई अमेरिकी घायल नहीं हुआ। ओबामा ने कहा कि मुठभेड़ के बाद अमेरिकी दल ओसामा बिन लादेन को मार दिया और उसके शव को अपने कब्जे में ले लिया।

अधिकारियों ने बताया कि लादेन का शव अमेरिकी अधिकारियों के पास है। वह अमेरिका की सेंट्रल इंटेलीजेंस एजेंसी (सीआईए) के एक अभियान में मारा गया। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई ने भी इसकी पुष्टि कर दी है।

लादेन इस्लामाबाद से महज 150 किमी दूर अबोटाबाद नामक जगह पर मारा गया। अमेरिकी कमांडो ने रात करीब 1 से 1.30 के बीच में कार्रवाई की। वह एक इमारत में अपने कुछ खास लोगों के साथ वहां रह रहा था। यह वही उत्तर-पश्चिमोत्तर पाकिस्तान का कबाइली क्षेत्र है, जहां उसके छिपे होने के बारे में कहा जाता था।

एक अन्य रिपोर्ट में यह साफ किया गया है कि यह कोई ड्रोन अभियान नहीं था, बल्कि जमीनी अभियान था।  अमेरिका के अभियान के बारे में अब तक ज्यादा जानकारी नहीं मिली है। सउदी अरब में जन्मा लादेन ऐसे समय मारा गया है जब जुलाई महीने से अमेरिकी सैनिकों की अफगानिस्तान से वापसी शुरू होने वाली है।

आतंकी नेटवर्क अलकायदा की स्थापना करने वाला ओसामा बिन लादेन (54वर्ष) न्यूयॉर्क और वाशिंगटन में 11 सितंबर 2001 को हुए हमलों सहित कई आतंकी घटनाओं का मास्टरमाइंड था। वह 1998 में अफ्रीका में अमेरिका के दो दूतावासों पर हुए बम हमलों और अक्टूबर 2000 में अदन के यमनी बंदरगाह पर यूएसएस कोल पर हुए हमले की घटनाओं में संदिग्ध था।

सउदी अरब से निष्कासित ओसामा बिन लादेन अफगानिस्तान के तालिबान शासन पर अमेरिका नीत हमले के बाद से ही भागता फिर रहा था। तालिबान ने ही लादेन को अफगानिस्तान में पनाह दी थी। अमेरिका नीत हमले में तालिबान के शासन का खात्मा हो गया था। वर्ष 1957 में जन्मा लादेन सउदी अरब के सबसे धनी भवन निर्माता का बेटा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पाकिस्तान में मारा गया ओसामा