DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकार की पुनर्वास नीति झूठ और फरेब का पुलिंदाः सहाय

केन्द्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुबोधकांत सहाय ने रविवार को यहां झारखंड सरकार पर अपनी ही जनता को छलने का आरोप लगाया और कहा कि झारखंड सरकार की शनिवार को घोषित पुनर्वास नीति झूठ और फरेब का पुलिंदा है।

सुबोधकांत सहाय ने रविवार को यहां दावा किया कि झारखंड में राज्य सरकार के अतिक्रमण हटाओ अभियान में अब तक लाखों लोग बेघर हो चुके हैं। राज्य सरकार की नीति को देखते हुए आने वाले समय में शहरों और गांवों में कम से कम एक करोड़ लोग बेघर होंगे लेकिन अपनी ही जनता को छलते हुए राज्य सरकार ने महज आठ हजार लोगों के पुनर्वास के लिए कल नीति घोषित की है।

सहाय ने झारखंड सरकार पर तीखी टिप्पणी करते हुए कहा कि राज्य सरकार द्वारा कल घोषित पुनर्वास नीति झूठ और फरेब का पुलिंदा है। ज्ञातव्य है कि झारखंड सरकार ने अतिक्रमण हटाओ अभियान में बेघर हुए हजारों लोगों के लिए पुनर्वास की नीति बनाने के लिए विकास आयुक्त देवाशीष गुप्ता की अध्यक्षता में गठित तीन सदस्यीय सीमिति की अनुशंसाएं कल मंत्रिमंडल की बैठक में स्वीकार कर ली जिसके तहत गरीबी रेखा से नीचे के आठ हजार परिवारों के पुनर्वास के लिए तीन तल के मकान बनाये जायेंगे।

यह आवास केन्द्र सरकार की झोपड़ पटटी विकास योजना की तर्ज पर बनाये जायेंगे और यह ढ़ाई सौ वर्ग फीट में तैयार किये जायेंगे। फौरी राहत के तौर पर राज्य सरकार अतिक्रमण हटाओ अभियान से प्रभावित शहरों के आसपास स्थान चिन्हित कर वहां प्रभावित गरीब परिवारों के लिए शिविर वाले पुनर्वास स्थल तैयार करेगी और बेघर हुए लोगों को वहां तत्काल बसायेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सरकार की पुनर्वास नीति झूठ और फरेब का पुलिंदाः सहाय