DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीटर को हराकर इंडियन ओपन चैम्पियन बने ली चोंग

पीटर को हराकर इंडियन ओपन चैम्पियन बने ली चोंग

शीर्ष वरीय मलेशिया के ली चोंग वेई ने तीन गेम तक चले रोमांचक फाइनल में तीसरे वरीय डेनमार्क के पीटर गाडे को हराकर पहले इंडियन ओपन सुपर सीरीज बैडमिंटन टूर्नामेंट के पुरुष एकल का खिताब जीता जबकि थाईलैंड की पोर्नटिप बुरानाप्रासरत्सुक महिला एकल चैम्पियन बनी।

इस साल 25 मैचों में केवल एक हार का सामना करने वाले दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी ली चोंग ने यहां सिरी फोर्ट खेल परिसर में दो लाख डालर इनामी प्रतियोगिता के फाइनल में एक घंटा और दो मिनट में दुनिया के पूर्व नंबर एक खिलाड़ी पीटर को 21-12, 12-21, 21-15 से हराकर साल का अपना चौथा खिताब जीता। इस दिग्गज खिलाड़ी ने इस साल बीडब्ल्यूएफ सुपर सीरीज फाइनल्स, मलेशिया ओपन सुपर सीरीज, आल इंग्लैंड और अब इंडियन ओपन का खिताब जीता है। उन्हें इस साल अपनी एकमात्र हार चीन के ली डैन के हाथों कोरिया ओपन के फाइनल में झेलनी पड़ी।

महिला एकल में दुनिया की 16वें नंबर की खिलाड़ी पोर्नटिप ने उलटफेर करते हुए कोरिया की तीसरी वरीय जू युन बेई को एकतरफा फाइनल में 31 मिनट में 21-13, 21-16 से हराया। पोर्नटिप की कोरियाई खिलाड़ी के खिलाफ तीन मैचों में यह पहली जीत है। इससे पहले जू युन के हाथों उन्हें चाइना ओपन सुपर सीरीज 2010 और 2008 कोरिया इंटरनेशनल चैलेंज में शिकस्त का सामना करना पड़ा था।

अपने पहले ही मैच में तीन मैच प्वाइंट बचाने वाले 34 वर्षीय पीटर ने बैक कोर्ट पर दमदार प्रदर्शन के दम पर ली चोंग को कड़ी टक्कर दी लेकिन मलेशियाई खिलाड़ी ने उनके खिलाफ अपने बेजोड़ रिकार्ड को बरकरार रखा। ली चोंग की पीटर के खिलाफ 13 मैचों में यह 12वीं जीत है जबकि उन्हें इस खिलाड़ी के खिलाफ एकमात्र हार का सामना 2009 में कोरिया ओपन के फाइनल में करना पड़ा।

फाइनल से पहले टूर्नामेंट में एक भी गेम नहीं गंवाने वाले ली चोंग ने अपने दमदार स्मैश और ड्राप शाट से पहले गेम पर पूरी तरह से नियंत्रण बनाए रखा लेकिन दुनिया के छठे नंबर के खिलाड़ी ने दूसरे गेम में वापसी की और बैक कोर्ट पर बेहतरीन खेल दिखाया। तीसरे गेम में कड़ी टक्कर देखने को मिली लेकिन बाजी ली चोंग ने मार ली।

ली चोंग को इस जीत के लिए 15000 डालर की इनामी राशि मिली जबकि पीटर को 7600 डालर से संतोष करना पड़ा। मलेशियाई खिलाड़ी ने पहले गेम में 2-4 से पिछड़ने के बाद लगातार सात अंक के साथ 9-4 की बढ़त बनाई। उन्होंने इसके बाद स्कोर 16-12 किया और फिर लगातार पांच अंक के साथ मैच में 1-0 की बढ़त बना ली।

पहले गेम में कई गलतियां करने वाले पीटर ने दूसरे गेम में दमदार खेल दिखाया और ली चोंग के आत्मविश्वास को डिगाने में सफल रहे। दूसरे गेम में एक समय स्कोर 8-8 से बराबर चल रहा था लेकिन पीटर ने इसके बाद अपने चतुराई भरे खेल से ली चोंग को कोई मौका नहीं दिया। मलेशियाई खिलाड़ी ने इस गेम में काफी गलतियां की जिसके बाद पीटर ने 20-12 के स्कोर पर क्रास कोर्ट स्मैश के साथ गेम जीत लिया।

तीसरे और निर्णायक गेम में भी पीटर ने तेज शुरुआत की और 6-2 की बढ़त बना ली लेकिन ली चोंग ने इसके बाद अपना असली खेल दिखाते हुए लगातार छह अंक के साथ पहले 8-6 की बढ़त बनाई। स्कोर जब 11-9 से ली चोंग के पक्ष में था तब इस खिलाड़ी के शाट पर विवाद भी हुआ जब पीटर ने लाइन काल का विरोध करते हुए रैफरी से इसके आउट होने की शिकायत की। डेनमार्क के खिलाड़ी को हालांकि अंक नहीं मिला लेकिन इससे उनकी एकाग्रता थोड़ी भंग हुई और ली चोंग ने इसका पूरा फायदा उठाया। मलेशियाई खिलाड़ी इसके बाद अपनी बढ़त को मजबूत किया और 20-15 के स्कोर पर टैप करके गेम और मैच अपने नाम कर लिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पीटर को हराकर इंडियन ओपन चैम्पियन बने ली चोंग