DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सहवाग पर टिकी होंगी दिल्ली डेयरडेविल्स की उम्मीदें

सहवाग पर टिकी होंगी दिल्ली डेयरडेविल्स की उम्मीदें

दिल्ली डेयरडेविल्स की निगाहें सोमवार को होने वाले आईपीएल मैच में कोच्चि टस्कर्स केरल को हराकर सेमीफाइनल की दौड़ में बने रहने पर लगी होंगी।

कप्तान वीरेंद्र सहवाग की 47 गेंद में 80 रन की आक्रामक पारी से दिल्ली ने कोच्चि टस्कर्स केरल को पिछले मैच में उसके घरेलू मैदान पर 38 रन से परास्त किया। जिससे वह निचले पायदान से छलांग लगाकर अंक तालिका में सातवें स्थान पर पहुंच गई। मेजबान टीम ने इंडियन प्रीमियर लीग में प्ले आफ की उम्मीद कायम रखी हैं।

फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में दर्शकों की उम्मीदें अपने स्टार खिलाड़ी सहवाग से ऐसे ही विस्फोटक प्रदर्शन पर लगी होंगी। कोच्चि के खिलाफ सहवाग ने टीम को ऐसे समय पर संभाला था तब उसने 37 रन पर तीन विकेट गंवा दिए थे। अंक तालिका में दिल्ली अब आठ मैचों में छह अंक से सातवें नंबर पर है जबकि कोच्चि की टीम लगातार तीन मैचों में हार से इतने ही मैचों में छह अंक से नौंवे स्थान पर है।

दिल्ली की तेज गेंदबाजी में मोर्ने मोर्कल, अजित अगरकर और इरफान पठान ने पिछले मैच में अच्छा प्रदर्शन किया था जबकि स्पिनर रोल्फ वान डर मर्व ने भी तीन विकेट चटकाकर अपनी महत्ता साबित की थी।

कोच्चि टस्कर्स केरल के लिए बल्लेबाजी चिंता का विषय बन गई है। दिल्ली के खिलाफ पूरी टीम 119 रन पर सिमट गई थी जबकि डेक्कन चार्जर्स के हाथों भी उसके बल्लेबाज 74 रन ही बना सके। इस करारी शिकस्त से पहले कोच्चि की टीम ने जयपुर में राजस्थान रायल्स के खिलाफ भी घुटने टेक दिए थे और टीम ने केवल 109 रन बनाए थे।

दिल्ली की टीम कोच्चि की तरह एक इकाई के रूप में असफल रही है जिसमें बल्लेबाजी उनका कमजोर पहलू है क्योंकि डेविड वार्नर जैसा आक्रामक खिलाड़ी भी अभी तक अपनी लोकप्रियता के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर पाया है, लेकिन पिछले मैच में बल्लेबाजों और गेंदबाजों ने बेहतरीन खेल दिखाते हुए जीत दर्ज की।

सहवाग की टीम हालांकि कोच्चि टस्कर्स को हल्के में नहीं ले सकती जिसके गेंदबाजों ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है और मजबूत टीमों जैसे चेन्नई सुपरकिंग्स और कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ मैच जीतने में अहम भूमिका निभाई।

हालांकि यह भी देखना होगा कि कल कोटला की पिच कैसा बर्ताव करती है क्योंकि पिछले मैचों में सहवाग पिच से संतुष्ट नहीं दिखे थे। अगर सलामी बल्लेबाज ब्रैंडन मैकुलम उसी तरह की पारी खेलते हैं जैसी उन्होंने मुंबई इंडियंस के खिलाफ अपने कप्तान महेला जयवर्धने के साथ मिलकर पारी खेली थी तो कोच्चि की टीम किसी भी लक्ष्य को हासिल कर सकती है।

कोच्चि की टीम युवा खिलाड़ी जैसे रविंदर जडेजा और पार्थिव पटेल के अच्छे प्रदर्शन पर निर्भर होगी।

टीमें इस प्रकार हैं
दिल्ली डेयरडेविल्स
वीरेंद्र सहवाग (कप्तान), मोर्ने मोर्कल, इरफान पठान, अशोक डिंडा, ट्रेविस बर्ट, कोलिन इंग्राम, रोबर्ट फ्राइलिंक, रोल्फ वान डर मर्व, मैथ्यू वाडे, एंड्रयू मैकडोनाल्ड, अजित अगरकर, वाई वेणुगोपाल राव, उमेश यादव, आरोन फिंच, नमन ओझा, विकास मिश्र, जेम्स होप्स, डेविड वार्नर, उन्मुक्त चंद, रोबिन बिष्ट, वरुण रेमंड आरोन, अविष्कार साल्वी, राजेश पवार, श्रीधरन श्रीराम, योगेश नागर, विवेक यादव, अजित चांडिला।

कोच्चि टस्कर्स केरल
महेला जयवर्धने (कप्तान), ब्रैंडन मैकुलम, पार्थिव पटेल, ब्रैड हाज, रविंदर जडेजा, केदार जाधव, थिसारा परेरा, आर गोमेज, आरपी सिंह, रमेश पोवार, वीवीएस लक्ष्मण, एस श्रीसंत, मुथैया मुरलीधरन, ओवेस शाह, स्टीवन स्मिथ, बी अखिल, दीपक चौगुले, गणेश्वर राव, जान हैस्टिंग्स, माइकल क्लिंगर, चंदन मदन, सुशांत मराठे, स्टीव ओकीफे, तन्मय श्रीवास्तव, पदमनाभन प्रशांत और यशपाल सिंह।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सहवाग पर टिकी होंगी दिल्ली डेयरडेविल्स की उम्मीदें