अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रवाद व धर्मनिरपेक्षता राकांपा का मूल आधार: तारिक

राकांपा के राष्ट्रीय महासचिव व सांसद तारिक अनवर ने कहा है कि किसी राजनीतिक दल की शक्ित उसकी विचारधारा में होती है और राकांपा का मूल आधार ही राष्ट्रवाद और धर्मनिरपेक्षता है। श्री अनवर मंगलवार को पार्टी के प्रदेश कार्यालय में ‘नेतृत्व विकास कार्यशाला’ का उद्घाटन करने के बाद कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पार्टी की नीतियों के प्रति प्रतिबद्धता के बिना कोई अच्छा राजनीतिक कार्यकर्ता विकसित नहीं हो सकता। ऐसे में पार्टी की नीतियों व सिद्धांतों की समग्र जानकारी रखने और उसपर चिन्तन की जरूरत है। उन्होंने कहा कि राकांपा पांच राज्यों में सरकार में है जबकि दस राज्यों में उसके विधायक हैं।ड्ढr ड्ढr यह बताता है कि राकांपा की पहचान देश के लोग सामाजिक न्याय की प्राप्ति के लिए कृतसंकल्पित पार्टी के रूप में करते हैं। पार्टी सच्चर कमेटी की रिपोर्ट लागू करवाने के लिए भी हमेशा प्रयासरत रही है। यही नहीं केन्द्र की दो महत्वपूर्ण योजना राष्ट्रीय गरमीण रोजगार योजना व सूचना के अधिकार को लागू करवाने में राकांपा की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। कार्यशाला को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि व उत्तर प्रदेश राकांपा के अध्यक्ष डॉ. रमेश दीक्षित ने कहा कि संगठन की नीतियों एवं नेताओं से पार्टी की पहचान होती है। उन्होंने समाज में उठ रही चुनौतियों का सामना करने के लिए नए कार्यकर्ताओं को पार्टी से जोड़ने की जरूरत बताई। उन्होंने जातिवाद व साम्प्रदायिकता को समाज के लिए सबसे खतरनाक बताया और कहा कि इसके खिलाफ अभियान चलाने की जरूरत है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मोहनलाल अग्रवाल ने स्वागत भाषण दिया। इस अवसर पर राष्ट्रीय सचिव अकील हैदर, प्रशिक्षण विभाग के राष्ट्रीय संयोजक मनीष कुमार व किसान कांग्रस के राष्ट्रीय संयोजक अजय सिंह भी मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राष्ट्रवाद व धर्मनिरपेक्षता राकांपा का मूल आधार: तारिक