DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आखिरकार जिंदगी की जंग हार गई स्वप्निका

आंध्र प्रदेश की राजधानी हैदराबाद में 21 दिन पहले तेजाब हमले में घायल छात्रा स्वप्निका आखिरकार जिंदगी से हार गई और बुधवारर तड़के उसकी मौत हो गई। स्थानीय ‘काकातिया इंस्टीटय़ूट ऑफ टेक्नॉलाजी एंड साइंसेस’ की इंजीनियरिंग अंतिम वर्ष की छात्रा स्वप्निका और प्रणीता गत दस दिसंबर को कॉलेज से घर लौट रही थीं कि रास्ते में मोटरसाइकिल सवार कुछ बदमाशों ने उनपर तेजाब फेंक दिया, जिससे वे घायल हो गई थी। इस घटना में स्वप्निका का शरीर तेजाब से 50 प्रतिशत जल गया था, जिसे प्रणीता के साथ स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया तथा बाद में उसे कारपोरेट अस्पताल में रिफर किया गया। हालांकि प्रणीता की हालत खतरे से बाहर है और स्थानीय अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है। इस हमले के तीनों अभियुक्तों सखमुरी श्रीनिवास राव और उसके दोस्तों बी संजय और पी हरिकृष्ण को पुलिस ने 24 घंटे के भीतर गिरफ्तार कर लिया था। इन अभियुक्तों ने अपना गुनाह भी कबूल किया। हालांकि ये तीनों अभियुक्तों की 13 दिसम्बर को पुलिस एनकाउंटर में मौत हो गई। जब पुलिस मामले की जांच के लिए इन्हें चोरी की मोटरसाइकिल और तेजाब रखने वाला उपकरण बरामद करने ले जा रही थी। उसी वक्त अभियुक्तों ने पुलिस पर हमला कर दिया, जिसके बाद जवाबी कार्रवाई में उनकी मौत हो गई। इन्होंने चोरी की मोटरसाइकिल के पास कथित तौर पर थोड़ा सा तेजाब और देशी हथियार छुपा रखा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आखिरकार जिंदगी की जंग हार गई स्वप्निका