अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अवाम की भावना को समझें अलगाववादी: उमर

जम्मू-कश्मीर के भावी मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने अलगाववादियों से अपील की है कि वे लोगों की भावनाओं को समझते हुए राज्य में हुकूमत के हाथों को और मजबूत करने में अपना सहयोग दें। उन्होंने कहा कि चुनाव का बहिष्कार करने की अलगाववादियों की मांग का अवाम पर कोई विशेष प्रभाव नहीं पड़ा और राज्य की जनता ने दिखा दिया कि वह शांति और समृद्धि चाहती है। जनता की इस भावना को समझते हुए अलगाववादियों को अब बंद और विरोध प्रदर्शनों को छोड़कर सरकार का सहयोगी बनना चाहिए। उमर ने विकास पर जोर देते हुए कहा कि सरकारी और निजी क्षेत्र के फर्मो को राज्य में बुलाने का प्रयास किया जाएगा, ताकि राज्य में उद्योग और विनिर्माण उद्योग का विकास हो। यह तभी संभव होगा जब राज्य में शांति और व्यवस्था होगी और लोगों में एक सुरक्षा की भावना आएगी। उमर ने केंद्र में संप्रग सरकार से भी अपील की कि वह जल्द ही पाकिस्तान के साथ मतभेदों को दूर कर शांति प्रयासों को शुरू करे। गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव में नेशनल कांफ्रेंस सबसे बड़े दल के रूप में उभरा है और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने का रास्ता साफ हो गया है। उमर अब्दुल्ला के मुख्यमंत्री बनने पर भी कांग्रेस ने अपनी मुहर लगा दी है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अवाम की भावना को समझें अलगाववादी: उमर