औरया के पूर्व एसपी सस्पेंड - औरया के पूर्व एसपी सस्पेंड DA Image
20 फरवरी, 2020|7:09|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

औरया के पूर्व एसपी सस्पेंड

औरैया में इंजीनियर मनोज कुमार गुप्ता की हत्या के मामले में प्रदेश सरकार ने तत्कालीन एसपी इकरामुल हक को निलम्बित कर दिया है और दिबियापुर औरैया के थानाध्यक्ष होशियार सिंह समेत दो गनरों को सेवा मुक्त कर दिया है। पुलिस मुखिया ने माना कि इांीनियर मनो गुप्ता की हत्या पैसा लेने के उद्देश्य से की गई। उनके पहले के इांीनियर विधायक व अन्य लोगों को पैसा दिया करते थे। इन्होंने ऐसा नहीं किया इसलिए वह मार दिए गए।ड्ढr पुलिस ने दावा किया है कि घटना में प्रयोग की गई टवेरा गाड़ी भी बरामद कर ली गई है। इसके अलावा दिबियापुर थाने में ोो गए नए थानेदार शिवस्वरूप को भी लाइन हाािर कर दिया गया है। उनकीोगह रानीश बाबू कटियार को नियुक्त किया गया है।ड्ढr प्रमुख सचिव गृह कुँवर फतेह बहादुर सिंह, प्रदेश पुलिस मुखिया विक्रम सिंह और अपर पुलिस महानिदेशक बृालाल ने बुधवार को बताया कि अभियंता मनो कुमार गुप्ता की हत्या के मामले में तत्कालीन एसपी इकरामुल हक को इसलिए निलम्बित किया गया है क्योंकि वह कानून व्यवस्था पर नियंत्रण नहीं कर पा रहे थे। उन्होंने इस बात से इनकार कर दिया कि श्री हक विधायक समेत विभिन्न अपराधियों को संरक्षण देते थे।ड्ढr पुलिस महानिदेशक विक्रम सिंह ने बताया कि दिबियापुर के थानेदार होशियार सिंह को सरकार ने नौकरी से भी मुक्त कर दिया है।ड्ढr पुलिस महानिदेशक ने बताया कि विधायक शेखर तिवारी के गनर अमर पाल सिंह और गाराा सिंह की भी घटना में संलिप्तता पाएोाने के आरोप में बर्खास्त कर दिया गया है। गृह विभाग और पुलिस ने इस बात से इनकार किया कि विधायक और पुलिस अधिकारियों की अपराधियों से साठगाँठ की शिकायत पहले आई थी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: औरया के पूर्व एसपी सस्पेंड