अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रमाणपत्रों की जांच दो माह में पूरी होगी

दूसरे चरण के शिक्षक नियोजन के लिए अभ्यर्थियों के प्रमाण-पत्रों की जांच अगले दो महीने में पूरी की जाएगी। इसके लिए मानव संसाधन विकास विभाग स्पेशल मैसेंजर नियुक्त करगा। दूसरी ओर विभाग के प्रधान सचिव अंजनी कुमार सिंह ने वैसी पंचायत और प्रखण्ड की नियोजन इकाइयों के मुखिया और प्रमुखों के खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिया है जिनके खिलाफ शिकायतें मिल रही हैं।ड्ढr ड्ढr बुधवार को शिक्षक नियोजन के लिए नियुक्त नोडल अधिकारियों के साथ बैठक के बाद प्रधान सचिव ने बताया कि कुछ पंचायत और प्रखण्ड की नियोजन इकाइयों के खिलाफ अधिकारियों ने शिकायतें की हैं। उनके खिलाफ कार्रवाई के लिए जिलों को निर्देश दिया गया है। उन्होंने बताया कि जिन संस्थाओं की डिग्रियों को विभाग ने सक्षम माना है उनकी डिग्रियों को ही मेरिट लिस्ट में शामिल किया जा रहा है। राज्य के अंतर्गत संस्थानों के प्रमाण-पत्रों की जांच जिला स्तर पर और राज्य के बाहर की संस्थाओं के प्रमाण-पत्रों की जांच मुख्यालय स्तर पर गठित कोषांग में की जाएगी। बाहर के प्रमाण-पत्रों की जांच के लिए मुख्यालय से स्पेशल मैसेंजर भेजे जाएंगे और संतुष्ट होने के बाद ही अभ्यर्थियों को नियोजन पत्र दिए जाएंगे। दूसरी ओर बुधवार को ही प्रधान सचिव ने अन्य अधिकारियों के साथ सर्व शिक्षा अभियान की प्रगति की भी समीक्षा की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: प्रमाणपत्रों की जांच दो माह में पूरी होगी